बुधवार, 14 जनवरी 2009

किशोरावस्‍था में आप अंतर्मुखी व्‍यक्तित्‍व वाले थे या नहीं ? ( Astrology )

मेरे पिछले आलेख में आपने पढा कि ग्रहों के प्रभाव से किस प्रकार कुछ खास तिथियों और उसके आसपास जन्‍म लेनेवाले बच्‍चे बहिर्मुखी स्‍वभाव के हो जाते हैं। पर इसके विपरीत कभी कभी कुछ ग्रहों की खास स्थिति ऐसी बन जाती है कि उस दिन जन्‍म लेनेवाले सभी बच्‍चों की जन्‍मकुडली में उनके अंतर्मुखी होने का योग उत्‍पन्‍न हो जाता है। इस योग के कारण ही कुछ किशोरों के समक्ष किशोरावस्‍था में यानि 12 वर्ष की उम्र से 24 वर्ष की उम्र तक , खासकर 12 वर्ष से 18 वर्ष की उम्र तक की पूरी परिस्थितियां कष्‍टकर बनी होती हैं । यदि न भी हो , तो ये किसी न किसी समस्‍या के बारे में गंभीरता से सोंचसोंचकर अपने दुख की व्‍यवस्‍था कर ही लेते हैं।

उनके समक्ष किसी भी प्रकार की शिक्षा , विद्दा या बौद्धिक विकास को बहुत ही तनावपूर्ण वातावरण में ही अर्जित करने का माहौल होता है। ये बौद्धिक विकास या शिक्षा दीक्षा के महत्‍व को नहीं समझते ऐसी बात नहीं , फिर भी परिस्थितियां इतनी विपरीत होती हैं कि कोई काम सही ढंग से नहीं हो पाता । बाधाओं की निरंतरता बनी रहती है। परीक्षा का परिणाम मेहनत के अनुरूप न मिलने से भी वे असंतुष्‍ट रहते हैं। निराशाजनक परिस्थितियों के कारण इनकी बुद्धि के कम काम करने की वजह से ये किसी भी समस्‍या का हल ढूंढ पाने में असमर्थ होते हैं। अपने बुद्धि-बल या सूझ-बूझ के प्रति इनका आत्‍मविश्‍वास काम नहीं करता और और ये कहीं भी अपनी बात रखने में चूक जाते हैं। इस कारण ये भीड के पीछे ही पीछे रहनेवाले , नियमों से चलनेवाले , थोडे डरपोक , और झेंपू होते हैं। कर्तब्‍यों और नियमों को जानने और समझनेवाले ये लोग उत्‍तरदायित्‍व बोझ से दबे और आज्ञाकारी होते हैं । 18 वर्ष की उम्र तक यह स्‍वभाव चरम सीमा तक देखा जा सकता है , पर उसके बाद धीरे धीरे अधिकांश किशोरों में यह स्‍वभाव परिवर्तित होने लगता है , जबकि कुछ किशोरों में यह प्रवृत्ति बढ भी जाती है ।


गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष द्वारा विकसित किए गए एक विशेष सिद्धांत के आधार पर 1950 से 1994 तक की खास खास तिथियों को पाठको के लिए प्रस्‍तुत किया जा रहा है ,जिस दिन जन्‍म लेने वाले न सिर्फ सारे लोगों में किशोरावस्‍था में ही अंतर्मुखी व्‍यक्तित्‍व शत प्रतिशत दिखाई पडा रहा होगा , बल्कि उसके पांच दिन पहले से लेकर पांच दिन बाद तक जन्‍म लेनेवालों में भी ये गुण बडे प्रतिशत में अवश्‍य देखने को मिलेगा। इन तिथियों से जितने ही दूर लोगों का जन्‍म हुआ होगा , उनमें अंतर्मुखी होने का स्‍वभाव क्रमश: कम होता चला जाएगा। ये तिथियां निम्‍न हैं………



1950 में 17 जनवरी , 14 मई और 17 सितम्‍बर ,
1951 में 2 जनवरी , 25 अप्रैल , 30 अगस्‍त और 17 दिसम्‍बर ,
1952 में 5 अप्रैल , 12 अगस्‍त और 30 नवम्‍बर ,
1953 में 18 मार्च , 25 जुलाई और 15 नवम्‍बर ,
1954 में 29 फरवरी , 5 जुलाई और 4 नवम्‍बर ,
1955 में 16 फरवरी , 16 जून और 14 अक्‍तूबर ,
1956 में 27 जनवरी , 25 मई और 26 सितम्‍बर ,
1957 में 11 जनवरी , 5 मई , 9 सितम्‍बर और 27 दिसम्‍बर,
1958 में 16 अप्रैल , 23 अगस्‍त और 10 दिसम्‍बर ,
1959 में 29 मार्च , 5 अगस्‍त और 24 नवम्‍बर ,
1960 में 11 मार्च 16 जुलाई और 7 नवम्‍बर ,
1961 में 21 फरवरी , 27 जून और 22 अक्‍तूबर ,
1962 में 5 फरवरी , 6 जून और 6 अक्‍तूबर ,
1963 में 20 जनवरी , 17 मई और 24 सितम्‍बर ,
1964 में 4 जनवरी , 27 अप्रैल , 2 सितम्‍बर और 22 दिसम्‍बर ,
1965 में 8 अप्रैल , 15 अगस्‍त और 3 दिसम्‍बर ,
1966 में 21 मार्च , 30 जुलाई और 18 नवम्‍बर ,
1967 में 2 मार्च , 9 जुलाई और 1 नवम्‍बर ,
1968 में 15 फरवरी , 18 जून और 15 अक्‍तूबर ,
1969 में 29 जनवरी , 28 मई और 28 सितम्‍बर ,
1970 में 12 जनवरी , 8 मई , 12 सितम्‍बर और 29 दिसम्‍बर ,
1971 में 19 अप्रैल , 26 अगस्‍त और 13 दिसम्‍बर ,
1972 में 31 मार्च , 7 अगस्‍त और 26 नवम्‍बर ,
1973 में 14 मार्च , 20 जुलाई और 10 नवम्‍बर ,
1974 में 24 फरवरी , 30 जून और 25 अक्‍तूबर ,
1975 में 8 फरवरी , 10 जून और 9 अक्‍तूबर ,
1976 में 21 जनवरी , 20 मई और 21 सितम्‍बर ,
1977 में 12 जनवरी , 30 अप्रैल , 5 सितम्‍बर और 22 दिसम्‍बर ,
1978 में 11 अप्रैल , 18 अगस्‍त और 5 दिसम्‍बर ,
1979 में 24 माच्र , 31 जुलाई और 12 नवम्‍बर ,
1980 में 6 मार्च , 11 जुलाई और 3 नवम्‍बर ,
1981 में 17 फरवरी , 26 जून और 18 अक्‍तूबर ,
1982 में 1 फरवरी , 1 जून और 2 अक्‍तूबर ,
1983 में 16 जनवरी , 12 मई , 15 सितम्‍बर , और 31 दिसम्‍बर ,
1984 में 22 अप्रैल , 28 अगस्‍त , और 15 दिसम्‍बर ,
1985 में 3 अप्रैल , 10 अगस्‍त और 4 दिसम्‍बर ,
1986 में 16 मार्च , 25 जुलाई और 13 नवम्‍बर ,
1987 में 27 फरवरी , 3 जुलाई और 28 अक्‍तूबर ,
1988 में 17 फरवरी , 15 जून और 10 अक्‍तूबर ,
1989 में 24 जनवरी ,23 मई और 24 सितम्‍बर ,
1990 में 9 जनवरी , 2 मई 8 सितम्‍बर और 24 दिसम्‍बर ,
1991 में 14 अप्रैल , 20 अगस्‍त और 9 दिसम्‍बर ,
1992 में 26 मार्च , 2 अगस्‍त और 20 नवम्‍बर ,
1993 में 9 मार्च , 14 जुलाई और 6 नवम्‍बर ,
1994 में 20 फरवरी , 25 जून और 23 अक्‍तूबर,


उपरोक्‍त लोगों में से जहां 1984 से पहले जन्‍म लेनेवालों में अब ऐसा स्‍वभाव बहुत कम (क्‍योंकि ये 24 वर्ष की उम्र व्‍यतीत कर चुके) और 1990 के पहले जन्‍म लेनेवालों में धीरे धीरे कम हो रहा होगा (क्‍योंकि ये 18 वर्ष की उम्र व्‍यतीत कर चुके) , वहीं 1990 में जन्‍म लेनेवाले सभी‍ किशोरों में अभी ये स्‍वभाव अपनी चरम सीमा पर दिखाई देगा(क्‍योंकि ये 18 वर्ष की उम्र के हैं)। 1991 से लेकर 1994 तक वालों में उपरोक्‍त स्‍वभाव धीरे धीरे बढता हुआ दिखाई पडेगा (क्‍योंकि ये 18 वर्ष से कम उम्र के हैं)।



पाठको से निवेदन है कि वे इस लेख को मात्र एक आलेख के रूप में न लेकर गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष के द्वारा किए जानेवाले सर्वे के रूप में लेंगे और अपने अपने मित्रों और परिवार के अन्‍य सदस्‍यों की जन्‍मतिथि को देखते हुए हमारे परिणामों के साथ मिलाकर हमें सूचना अवश्‍य देंगे। इसके लिए ‘गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिषीय अनुसंधान केन्‍द्र’ उनका आभारी रहेगा।


(इसके अतिरिक्‍त कुछ किशोर संतुलित व्‍यवहार वाले भी होते हैं, जिनकी चर्चा अगले लेख में की जाएगी )

14 टिप्‍पणियां:

Amit ने कहा…

bahut acchi jaankaari.....

शाश्‍वत शेखर ने कहा…

मेरा जन्म तो ५ जुलाई को हुआ था, १९८० में, आपने सही कहा, मैं भी अंतर्मुखी था, अभी भी थोड़ा बहुत वैसा ही हूँ|

Gyan Dutt Pandey ने कहा…

ध्यानाकर्षक लेख। अब डाटा वैलिडेशन तो पाठक ही करेंगे!
पर आप इस प्रकार लिख कर लोगों की रुचि जरूर जगा रही हैं।

योगेन्द्र मौदगिल ने कहा…

हमेशा की तरह बेहतरीन प्रस्तुति के लिये साधुवाद...

रंजना [रंजू भाटिया] ने कहा…

इस जानकारी के जरिये जरुर जानेंगे अच्छी लगी यह शुक्रिया

Nirmla Kapila ने कहा…

bahut umdaa jaankaari hai

COMMON MAN ने कहा…

main bhi bahut antarmukhi tha kuchh varsh pahle tak, mera janm 14.12.72 ko hua tha, koi khaas jaankari ho to batane ki kripa karen,

प्रदीप मानोरिया ने कहा…

very informative

Dev ने कहा…

Bahut gayanbardhak jankari....aapka data sahi hai....

Regards...

akumarjain ने कहा…

काफी सटीक जानकारी। लिखते रहिये और ज्ञान बाटतें रहिये।

G M Rajesh ने कहा…

agar aap bata salen ki kin tithiyon me kis blood group ki jaroorat pad sakti hai
yah hame madad kregi rakt jutaane me

संगीता पुरी ने कहा…

आप सबों का बहुत बहुत आभार......

अल्पना वर्मा ने कहा…

एक तिथि के अनुसार उसे यहाँ मैच होना चाहिये जबकि उसका व्यवहार बहिर्मुखी है..और किशोरावस्था में सारे गुण वहीँ वाले थे.

अल्पना वर्मा ने कहा…

हो सकता है जनम के वर्ष में संशय होने के कारण मैच न हो पा रहा हो!