रविवार, 1 मार्च 2009

लग्‍न राशि फल - मार्च 2009 ( Astrology )

मेष – पिता से संबंधित कोई कठिनाई बनी रहेगी । कैरियर के मामले गडबड रहेंगे। प्रतिष्‍ठा का प्रश्‍न भी जन्‍म ले सकता है। राजनीतिक वातावरण मनोनुकूल नहीं होगा । किसी प्रकार के लाभ के लिए भी वातावरण कमजोर बनेगा। 4 मार्च के बाद धन का बिखराव महसूस होगा। कोष की स्थिति भी कमजोर होने लगेगी। पारिवारिक जीवन में भी समस्‍या आएगी। दाम्‍पत्‍य जीवन कष्‍टकर होगा। 15 मार्च के बाद संतान से संबंधित मामले भी कष्‍टप्रद बनने लगेंगे। अपनी पढाई लिखाई में भी बाधा आएगी। पर खर्च की स्थिति के मनोनुकूल ढंग के बने होने से राहत मिलती रहेगी। बाहरी संदर्भ सुखद बनें रहेंगे। भाग्‍य की स्थिति भी संतोषजनक बनीं रहेगी। शरीर और व्‍यक्तित्‍व के मामले अच्‍छे बनें रहने से आत्‍मविश्‍वास और प्रभाव बना रहेगा । भाई ,बहन, बंधु, बांधव के मामले भी सुख देनेवाले ही बनें रहेंगे। जीवनशैली सुखद बनी रहेगी यानि रूटीन भी नियमित बना रहेगा।

वृष – भाग्‍य बिल्‍कुल साथ नहीं देगा यानि संयोग से कोई काम नहीं बनेंगे। इस महीने धार्मिक अभिरूचि बढेगी। पिता से संबंधित कोई कठिनाई बनीं रहेगी । कैरियर के मामले गडबड रहेंगे। प्रतिष्‍ठा का प्रश्‍न भी जन्‍म ले सकता है। राजनीतिक वातावरण मनोनुकूल नहीं होगा ।4 मार्च के बाद स्‍वाथ्‍य की गडबडी आएगी , जिससे आत्‍मविश्‍वास और प्रभाव काफी कमजोर पडेगा। किसी प्रकार का झंझट भी उपस्थित हो सकता है। 15 मार्च के बाद घर , मकान , वाहन या अन्‍य किसी प्रकार की संपत्ति के सुख में कमी आएगी। माता से संबंधित भी कोई कष्‍ट उपस्थित होगा। किन्‍तु हर प्रकार के लाभ का वातावरण सुखद होने से राहत महसूस होगी। जीवनशैली मनोनुकूल ढंग की बनी रहेगी। धन की स्थित सुखद बनी रहेगी । कोष की बढोत्‍तरी की संभावना है। इसलिए खर्च के मामले भी सुखद बनें रहेंगे। बाहरी संदर्भों का सुख प्राप्‍त होगा। संतान पक्ष के काम मनोनुकूल ढंग से होंगे। अपनी पढाई लिखाई भी अच्‍छी तरह होगी। इसलिए घर गृहस्‍थी का वातावरण भी मनोनुकूल बना रहेगा। दाम्‍पत्‍य जीवन सुखद महसूस होगा।

मिथुन - भाग्‍य बिल्‍कुल साथ नहीं देगा यानि संयोग से कोई काम नहीं बनेंगे। इस महीने धार्मिक अभिरूचि बढेगी। जीवनशैली बहुत कमजोर बनी रहेगी यानि रूटीन काफी अस्‍तव्‍यस्‍त बना रहेगा। किसी प्रकार की दुर्घटना की संभावना भी बनती है। 4 मार्च के बाद संतान से संबंधित मामले भी कष्‍टप्रद बनने लगेंगे। अपनी पढाई लिखाई में भी बाधा आएगी। खर्च का तनाव बनना आरंभ होगा। बाहरी संदर्भ कष्‍टप्रद बनने लगेंगे। 15 मार्च के बाद भाई, बहन, बंधु, बांधव की ओर का कोई तनाव उपस्थित होगा। किन्‍तु घर गृहस्‍थी का वातावरण भी मनोनुकूल बना रहेगा। दाम्‍पत्‍य जीवन सुखद महसूस होगा , जिससे काफी राहत महसूस होगी। पिता की ओर से सुख मिलेगा। कैरियर से संतुष्टि बनी रहेगी। शरीर और व्‍यक्तित्‍व के मामले मनोनुकूल बने होने से आत्‍मविश्‍वास की बढोत्‍तरी होगी। माता की ओर से भी सुख बना रहेगा। घर , मकान , वाहन या अन्‍य हर प्रकार की संपत्ति की स्थिति भी सुखद बनी रहेगी। लाभ का वातावरण बना रहेगा। किसी प्रकार का झंझट होतो उसके सुलझने की पूरी संभावना रहेगी।

कर्क – घर गृहस्‍थी का वातावरण बहुत तनावपूर्ण बनेगा। दाम्‍पत्‍य जीवन कष्‍टकर महसूस होगा। जीवनशैली कमजोर बनी रहेगी। रूटीन अस्‍तव्‍यस्‍त बना रहेगा। 4 मार्च के बाद हर प्रकार के लाभ के वातावरण में भी गडबडी आएगी। घर , मकान , वाहन या अन्‍य किसी प्रकार की संपत्ति से संबंधित समस्‍या आएगी । 15 मार्च के बाद धन का बिखराव सा होगा। कोष की स्थिति कमजोर पडेगी। किन्‍तु भाग्‍य के मजबूत दिखाई पडने से यानि संयोग के कारण किसी काम के बनने से राहत महसूस होगी। किसी प्रकार के झंझट का खात्‍मा होगा। पिता से संबंधित वातावरण भी मन मुताबिक ही होगा। कैरियर में वातावरण मनोनुकूल बनेगा। खर्च शक्ति बनी रहेगी। भाई, बहन, बंधु, बांधव का सुख मिलता रहेगा। मनोनुकूल ढंग से संतान पक्ष के कार्य होते रहेंगे , जो काफी राहत देनेवाले बने रहेंगे।

सिंह - घर गृहस्‍थी का वातावरण बहुत तनावपूर्ण बनेगा। दाम्‍पत्‍य जीवन कष्‍टकर महसूस होगा। हर वक्‍त झंझटपूर्ण माहौल बने रहने का अहसास होगा। 4 मार्च के बाद कैरियर के वातावरण में भी गडबडी आएगी। भाई, बहन, बंधु, बांधव से सहयोग और तालमेल की कमी बने रहने से माहौल निराशाजनक बना रहेगा। 15 मार्च के बाद स्‍वास्‍थ्‍य की परेशानी आ सकती है। आत्‍मविश्‍वास भी कुछ कमजोर पड सकता है। पर अपनी पढाई लिखाई का वातावरण अच्‍छा बना रहेगा। संतान पक्ष के मामलों के अच्‍छे बने रहने से सुख की अनुभूति होती रहेगी। जीवनशैली मनोनुकूल बनी रहेगी। रूटीन सुव्‍यवस्थित बना रहेगा। भाग्‍य के मजबूत दिखाई पडने से यानि संयोग के कारण किसी काम के बनने से राहत महसूस होगी। घर , मकान , वाहन या अन्‍य हर प्रकार की संपत्ति की स्थिति भी सुखद बनी रहेगी। लाभ का वातावरण मनोनुकूल बना रहेगा। धन की स्थिति अच्‍छी बनी रहेगी।


कन्‍या – किसी समस्‍या के उपस्थित होने से अपनी पढाई लिखाई का वातावरण कमजोर पडेगा। संतान पक्ष की भी कोई समस्‍या दिखाई पड सकती है। इसके कारण हर वक्‍त झंझटपूर्ण माहौल बने रहने का अहसास होगा। 4 मार्च के बाद भाग्‍य की स्थिति बहुत कमजोर बन जाएगी। यानि संयोग से किसी प्रकार के काम के बनने की उम्‍मीद आप न ही करें तो अच्‍छा रहेगा। बडी मात्रा में धन का बिखराव होगा। कोष की स्थिति कमजोर पडेगी। इस कारण 15 मार्च के बाद खर्च का संकट उपस्थित होगा। किन्‍तु स्‍वास्‍थ्‍य अच्‍छा बना रहेगा। आत्‍मविश्‍वास की प्रचुरता रहेगी। कैरियर से संबंधित मामले अच्‍छे बने रहेंगे। माता का सहयोग मिलता रहेगा। घर , मकान , वाहन या अन्‍य हर प्रकार की संपत्ति की स्थिति भी सुखद बनी रहेगी। पारिवारिक जीवन सुखद महसूस होगा। भाई, बहन, बंधु, बांधव सहयोगी बने रहेंगे। जीवनशैली अच्‍छी बनी रहेगी यानि रूटीन सुव्‍यवस्थित होगा जिससे काफी राहत मिलेगी।

तुला – माता पक्ष का कोई तनाव बनेगा , घर , मकान , वाहन या अन्‍य किसी प्रकार की संपत्ति से संबंधित समस्‍या आएगी । संतान से संबंधित मामले भी कष्‍टप्रद बनने लगेंगे। अपनी पढाई लिखाई में भी बाधा आएगी। मानसिक तनाव बढेगा। 4 मार्च के बाद स्‍वास्‍थ्‍य भी कुछ कमजोर पडेगा। आत्‍मविश्‍वास कम होगा । जीवनशैली कमजोर पडेगी । रूटीन अस्‍तव्‍यस्‍त रहेगा। 15 मार्च के बाद मंजिल की ओर जाने के रास्‍ते में कुछ बाधाएं नजर आएंगी। पर भाग्‍य मजबूत बना रहेगा। धन की स्थिति अच्‍छी बनी रहेगी। इस कारण खर्च की स्थिति सुखद बनी रहेगी। बाहरी संदर्भों का सुख प्राप्‍त होगा। भाई, बहन, बंधु, बांधव का सहयोग मिलता रहेगा। प्रभाव की स्थिति मजबूत बनी रहेगी। घर गृहस्‍थी का वातावरण या दाम्‍पत्‍य जीवन भी सुखद बना रहेगा।


वृश्चिक – भाई, बहन, बंधु, बांधव से संबंधित सहयोग की कमी या किसी अन्‍य प्रकार की समस्‍या से तनाव बढेगा। माता पक्ष का कोई तनाव बनेगा , घर , मकान , वाहन या अन्‍य किसी प्रकार की संपत्ति से संबंधित समस्‍या आएगी । 4 मार्च के बाद घर गृहस्‍थी की कोई समस्‍या उपस्थित होगी। दाम्‍पत्‍य जीवन पर इसका बुरा प्रभाव पडेगा। खर्च की समस्‍या भी उपस्थित होगी। बाहरी संदर्भों की कठिनाई आएगी। 15 मार्च के बाद कैरियर की समस्‍या भी उपस्थित हो सकती है। प्रतिष्‍ठा का प्रश्‍न भी जन्‍म ले सकता है। सामाजिक राजनीतिक स्थिति कमजोर महसूस हो सकती है। पर हर प्रकार के लाभ का वातावरण सुखद बना रहेगा। जीवनशैली आरामदायक रहेगी। रूटीन सुव्‍यवस्थित रहेगा। धन की स्थिति मजबूत बनी रहेगी। अपनी पढाई लिखाई का वातावरण अच्‍छा बना रहेगा। संतान पक्ष का काम भी मनोनुकूल ढंग से होगा। प्रभाव की स्थिति अच्‍छी बनी रहेगी।


धनु – धन के यत्र तत्र बिखर जाने से कोष की स्थिति बहुत कमजोर महसूस होगी। भाई, बहन, बंधु, बांधव का तनाव उपस्थित होगा। उनसे सहयोग नहीं मिल पाने से भी कष्‍ट होगा। 4 मार्च के बाद लाभ के कमजोर दिखाई पडने से चिंताजनक वातावरण बनेगा। प्रभाव की स्थिति भी कमजोर बनीं रहेगा। झंझटपूर्ण माहौल बनेगा। 15 मार्च के बाद भाग्‍य भी कमजोर बनेगा यानि संयोग से आपके काम नहीं बनेंगे। किन्‍तु अपनी पढाई लिखाई का वातावरण मनोनुकूल बना रहेगा। संतान पक्ष के काम भी मनोनुकूल ढंग से होते रहेंगे। घर गृ‍हस्‍थी का वातावरण भी सुखद महसूस होता रहेगा। कैरियर के मामले भी अच्‍छे बने रहेंगे। खर्च की स्थिति सुखद बनी रहेगी। बाहरी संदर्भों का सुख प्राप्‍त होता रहेगा। स्‍वास्‍थ्‍य अच्‍छा रहेगा। आत्‍‍मविश्‍वास बना रहेगा। घर , मकान , वाहन या अन्‍य किसी प्रकार की संपत्ति से संबंधित सुख बना रहेगा।


मकर – स्‍वास्‍थ्‍य की स्थिति कमजोर बनी रहेगी। आत्‍मविश्‍वास कमजोर पडेगा। धन के यत्र तत्र बिखर जाने से कोष की स्थिति बहुत कमजोर महसूस होगी। 4 मार्च के बाद अपनी पढाई लिखाई से संबंधित वातावरण कमजोर पडेगा। संतान पक्ष के मामले का भी कोई तनाव उपस्थित होगा। पिता के मामले की समस्‍या भी उपस्थित हो सकती है। कैरियर की भी समस्‍या आ सकती है। प्रतिष्‍ठा का प्रश्‍न उत्‍पन्‍न हो सकता है। 15 मार्च के बाद जीवनशैली कुछ अस्‍तव्‍यस्‍त हो जाएगी। किन्‍तु भाग्‍य के मामले अच्‍छे बने रहेंगे। लाभ के मजबूत बने रहने से प्रभाव भी मजबूत रहेगा। भाई, बहन, बंधु, बांधव का सहयोग मिलता रहेगा। खर्च की स्थिति मजबूत बनीं रहेगी। बाहरी संदर्भों का सुख मिलेगा। घर , मकान , वाहन या अन्‍य किसी प्रकार की संपत्ति से संबंधित सुख बना रहेगा।


कुंभ - स्‍वास्‍थ्‍य की स्थिति कमजोर बनी रहेगी। आत्‍मविश्‍वास कमजोर पडेगा। खर्चशक्ति की कमी महसूस होगी। बाहरी संदर्भ कष्‍टपूर्ण बने रहेंगे। 4 मार्च के बाद भाग्‍य बिल्‍कुल साथ न देगा। संयोग के न बनने से कोई काम बिगडेगा। घर , मकान , वाहन या अन्‍य किसी प्रकार की संपत्ति से संबंधित मामलों की कुछ कठिनाई उपस्थित हो सकती है। 15 मार्च के बाद घर गृहस्‍थी के मामले भी कमजोर पडेंगे , जिसका प्रभाव दाम्‍पत्‍य जीवन पर भी पडेगा। किन्‍तु पढाई लिखाई का वातावरण अच्‍छा बना रहेगा। संतान से संबंधित काम मनोनुकूल ढंग से होते रहेंगे। रूटीन सुव्‍यवस्थित रहेगा। कैरियर के मामले अच्‍छे बने रहेंगे। प्रतिष्‍ठा की बढोत्‍तरी होती रहेगी। धन का लाभ होता रहेगा । कोष की स्थिति मजबूत बनी रहेगी। भाई, बहन, बंधु, बांधवों का सहयोग मिलता रहेगा, जिससे काफी राहत महसूस होती रहेगी।

मीन – लाभ और खर्च दोनो के ही मामले काफी गडबड बने रहेंगे। बाहरी संदर्भों की हालत चिंताजनक रहेगी। 4 मार्च के बाद भाई, बहन, बंधु, बांधव से संबंधित कोई समस्‍या दिखाई पडेगी। जीवनशैली कमजोर महसूस होगी। रूटीन अस्‍तव्‍यस्‍त रहेगा। 15 मार्च के बाद किसी प्रकार का झंझट उपस्थित हो सकता है। प्रभाव कमजोर दिखाई पड सकता है। किंतु भाग्‍य के साथ देने से संयोग से काम बनेंगे। कोष की स्थिति अच्‍छी बनी रहेगी। घर , मकान , वाहन या अन्‍य किसी प्रकार की संपत्ति से संबंधित मामले अच्‍छे बने रहेंगे। घर गृहस्‍थी का वातावरण अच्‍छा रहेगा। दाम्‍पत्‍य जीवन सुखमय बना रहेगा। कैरियर के मामले अच्‍छे बने रहेंगे। स्‍वास्‍थ्‍य अच्‍छा रहेगा और आत्‍मविश्‍वास बना रहेगा।

7 टिप्‍पणियां:

Udan Tashtari ने कहा…

अपना तो ठीकठाक है इसलिये आभार..वैसे भी आभार तो हमेशा है ही. :)

राज भाटिय़ा ने कहा…

बहुत ही खुब , जिन्हे राशि फ़ल का शोक है उन सब के लिये ओर हमारे लिये भी एक अच्छी जानकारी.
धन्यवाद

Manoshi ने कहा…

वैसे तो ठीक है, आपने जो भी गणना की होगी, ठीक होगी या जो भी है, मगर हमेशा से ही मुझे आपत्ति रही है आपके इस तरह कह जाने से...ये तो डर फैलाना है। सोशल स्किल्स भी ज़रूरी होते हैं। ज्योतिष मे सबसे पहले code of conduct में यही बात होती है कि आप बात को कैसे कहें, कहें भी कि नहीं? किसी की मृत्यु की खबर उसे ऐसे नहीं दे सकते कि आप कल मर जायेंगे। प्लीज़...be considerate and kind...

आशा है आप बात का बुरा नहीं मानेंगी।

रंजना [रंजू भाटिया] ने कहा…

पढ़ लिया जी ...देखते हैं अब आगे होता है क्या :) शुक्रिया

रंजना [रंजू भाटिया] ने कहा…

पढ़ लिया जी ...देखते हैं अब आगे होता है क्या :) शुक्रिया

PD ने कहा…

ham naam se "kanya", janmdin se "singh" aur janm ke samay se "tula" hain.. dekhte hain ki in tino me sabse badhiya kaun sa hai.. jo sabse badhiya hoga use hi apna maan lenge.. :D

इष्ट देव सांकृत्यायन ने कहा…

आपने इसे लग्न राशिफल कहा है. तो इसे हम किस अनुसार मानें - जन्म लग्न या चन्द्रराशि. कृपया अगली बार स्पष्ट कर के लिखें.