मंगलवार, 10 मार्च 2009

मुहूर्त , शकुन या लॉटरी का महत्व ( Astrology )

किसी धनाढ्य व्यक्ति के यहॉ लक्ष्मी-पूजन करने के लिए पंडित शुभ मुहूर्त निकालते हैं , पूजा हो जाती है , धन की वर्षा भी होने लगती है , किन्तु आश्चर्य की बात यह है कि एक पंडित अपने लिए वह शुभ मुहूर्त क्यों नहीं निकाल पाता ? वैसी हालत में धन की वर्षा उसी के यहॉ होती। उसे केवल दक्षिणा से संतुष्ट नहीं रहना पड़ता।

जहॉ एक ओर सामूहिक उत्सव , एक ही मेले में लाखों लोगों का एक साथ उपस्थित होना , सामूहिक विवाह , सौंदर्य प्रतियोगिता आदि सुखद अहसास खास समयांतराल के विषयवस्तु हो सकते हैं , वहीं दूसरी ओर भूकम्प , तूफान , युद्ध और दुर्घटनाओं से एक समय में लाखों लोगों का प्रभावित होना भी सच है। इस प्रकार अच्छे या बुरे समय को स्वीकार करना हमारी बाध्यता है , किन्तु किसी समय अमृतयोग , सिद्धियोग या महेन्द्रयोग चल रहा हो और उसी समय किसी विषय की परीक्षा चल रही हो , तो क्या लाखों की संख्या में परीक्षा दे रहे सभी विद्यार्थी पास कर ही जाएंगे ? कदापि नहीं , सभी विद्यार्थियों को उनकी योग्यता के अनुरुप ही फल की प्राप्ति होगी।

शकुन या लॉटरी की पद्धति से कई संभावनाओं में से एक को स्वीकार करने की प्रथा है। किन्तु हम अच्छी तरह जानते हैं कि बार-बार ऐसे प्रयोगों का परिणाम विज्ञान की तरह एक जैसा नहीं होता। अत: इस प्रकार के शकुन भले ही कुछ क्षणों के लिए आहत मन को राहत दे दे , भविष्य या वर्तमान जानने की विधि कदापि नहीं हो सकती।

स्मरण रहे , विज्ञान से सत्य का उदघाटन किया जाता है। अनुमान से कई प्रकार की संभावनाओं की व्याख्या करके अनिश्चय और निश्चय के बीच पेंडुलम की तरह थिरकते रहना पड़ सकता है , किन्तु इन दोनों से ही अलग लॉटरी या शकुन पद्धति से अनुमान और सत्य दोनो की अवहेलना करते हुए जो भी हाथ लग जाए , उसे अपनी नियति मानने का दर्द झेलने को विवश होना पड़ सकता है।लेकिन जब योजना को स्वरुप देने में संसाधन की कमी हो रही हो , कई तरह की बाधाएं आ रही हों , तो ऐसी परिस्थिति में ज्योतिषी से यह सलाह अवश्य ली जा सकती है कि निकट भविष्य में कोई शुभ मुहूर्त उसके जीवन में है या नहीं ?

14 टिप्‍पणियां:

ज्ञानदत्त । GD Pandey ने कहा…

असल में पूर्वनिर्धारण और फ्री-विल के कॉन्सेप्ट्स का द्वन्द्व तो रहेगा ही।

ali ने कहा…

::होलिकोत्सव 2009::

ध्रुव तारे सी आभा आपके अंतर्मन को आलोकित करे ! आपका जीवन सदैव उत्सवमय हो !
रंगपर्व की अनंत सुमंगलकामनायें !

sandhyagupta ने कहा…

होली की हार्दिक शुभकामनाएँ

mehek ने कहा…

baat to sahi hai,holi mubarak,shubh muharat ka falit bhi kitna milega koi nahi janta.kabhi kabhi yuhi kiya koi kaam bhi safalta de jata hai,bina muharat nikale.

राज भाटिय़ा ने कहा…

आपको और आपके परिवार को होली की रंग-बिरंगी ओर बहुत बधाई।
बुरा न मानो होली है। होली है जी होली है

सुशील कुमार ने कहा…

संगीतापुरी जी, होली की हार्दिक शुभकामनाएँ।

neeshoo ने कहा…

मेरी तरफ से रंगों के त्यौहार होली की शुभकामनाएं।

अरविन्द श्रीवास्तव ने कहा…

होली मगलमय हो, आपको पढना अच्छा लगता है।

लवली कुमारी / Lovely kumari ने कहा…

संगीता जी, होली की ढेरों शुभकामनायें.

रंजना [रंजू भाटिया] ने कहा…

होली की हार्दिक शुभकामनाएँ

सिद्धार्थ जोशी Sidharth Joshi ने कहा…

मुझे भी ज्ञानदत्‍त जी की बात सही लगती है। वास्‍तव में पहली बार मेरे दिमाग में यह लोचा इंजेक्‍ट किया गया था। बाद में तो बहुत कबाड़ा हुआ। उसे ही अपने ब्‍लॉग पर पेल रहा हूं। :)

प्रवीण त्रिवेदी...प्राइमरी का मास्टर ने कहा…

होली कैसी हो..ली , जैसी भी हो..ली - हैप्पी होली !!!

होली की शुभकामनाओं सहित!!!

प्राइमरी का मास्टर
फतेहपुर

प्रवीण त्रिवेदी...प्राइमरी का मास्टर ने कहा…

होली कैसी हो..ली , जैसी भी हो..ली - हैप्पी होली !!!

होली की शुभकामनाओं सहित!!!

प्राइमरी का मास्टर
फतेहपुर

media.face ने कहा…

ब्लॉग स्पॉट की दुनिया में आप एक महान हस्ती हैं।

अमित कुमार दुबे