बुधवार, 4 नवंबर 2009

हमारे रणबांकुरे कल क्‍या करेंगे ??

देखते ही देखते भारत और ऑस्‍टेलिया के मध्‍य पांचवा मैच भी कल होना है, जिसके लिए भी कुछ तुक्‍का लगा ही दूं। इसे तुक्‍का ही मानें क्‍यूंकि मैं गोलमोल बातें कहा करती हूं और हार और जीत के बारे में साफ साफ नहीं बताती हूं। कौन कितना रन बनाएगा , ये भी नहीं कह पाती। वास्‍तव में 'गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष' ग्रहों के प्रभाव को एक सीमा तक ही मानता है और किसी की मेहनत और क्षमता को भी काफी महत्‍व देता है।

इस कारण जन्‍मकुंडली के ग्रहों के प्रभाव के आधार पर भविष्‍यवाणी करते हुए हम व्‍यक्ति के पूरे जीवन के उतार चढाव का लेखाचित्र खींच देते हैं , पर उतार में व्‍यक्ति कितना नीचे चला जाएगा और चढाव में कितना उपर , इसे बताना संभव नहीं, क्‍यूंकि हम व्‍यक्ति की क्षमता को , उसके जीन को , उसके पारिवारिक वातावरण को , उसके भौगोलिक वातावरण को ग्रहों से नहीं समझ सकते। इसके अलावे भी कुछ अन्‍य बातों को प्रभाव मनुष्‍य के जीवन में पडता है , जबकि हम सिर्फ ग्रहों के प्रभाव को दखते हैं , अन्‍यान्‍य प्रभाव को नही।

इसी प्रकार किसी मैच के विश्‍लेषण करने में हम भारत के पक्ष और विपक्ष तथा आस्‍ट्रेलिया के पक्ष और विपक्ष के समय का खाका खींच सकते हैं , पर पक्ष के समय का देश कितना उपयोग करेगा या विपक्ष के समय कितने चुनौतीपूर्ण ढंग से निबटेगा , यह दोनो देश के टीम की तैयारी पर निर्भर करता है। कल दूसरी पारी के पहले दो घंटे खराब होने की बात तो मैने की थी , पर भारत की टीम के सारे विकेट धडाधड गिर जाएंगे , यह निश्चित तौर पर हमारे खिलाडियों का गलत निर्णय है , पहले से ऐसी कल्‍पना कौन कर सकता था ?

कल उप्‍पल , हैदराबाद राजीव गांधी इंटरनेशनल स्‍टेडियम में भारत आस्‍ट्रेलिया के मध्‍य होनेवाले पांचवे क्रिकेट मैच में शुरूआत भारत के पक्ष में न होने से कुछ देर तक भारत दबाब महसूस कर सकता है पर थोडी ही देर में सबकुछ सामान्‍य नजर आएगा और बिल्‍कुल अंत अंत में मैच भारत के पक्ष में हो जाएगा, जिसके कारण ब्रेक का समय भारतवासियों को काफी राहत देनेवाला होगा।

दूसरी पारी में भी मैच की शुरूआत बहुत ही अच्‍छे ढंग से होगी , एक घंटे तक भारत के बहुत मजबूत स्थिति में खेलने के बाद आस्‍ट्रेलियन टीम भी काफी गंभीर हो जाएगी , जिसके कारण भारत पर दबाब बहुत बढता जाएगा। रात साढे नौ बजे के बाद ही ग्रहों के अच्‍छे प्रभाव से भारत को थोडी राहत मिलने की उम्‍मीद बनती है। पर इसका फायदा उठाने के लिए उन्‍हें अपने बुरे समयंतराल को धैर्य से खेलकर पार करना पडेगा। इस देश के वासी होने के नाते ऐसा ही हो , अन्‍य दिनों की तरह ही हम इसकी कामना तो करेंगे ही।

20 टिप्‍पणियां:

अजय कुमार ने कहा…

बेसब्री से इंतजार है भारत की जीत का

रंजन ने कहा…

bcci की टीम कल मैच हार जायेगी लगता है...

Mishra Pankaj ने कहा…

मेरे हिसाब से तो कल जीतेगे

प्रवीण शाह ने कहा…

.
.
.
आदरणीय संगीता जी,
आपके आलेख से जो मैं समझ पाया वह यह है:-
टॉस भारत हारेगा।

पहले बैटिंग आस्ट्रेलिया की।
ओपनिंग स्टैंड जोरदार होगा।
फिर भारत बोलिंग में अच्छा करेगा और पारी के अंत तक स्कोर २५० के आस पास होगा।

अब भारत की पारी।
शुरूआत जोरदार होगी।
फिर आस्ट्रेलिया पकड़ बनायेगा।
लोवर आर्डर में एक दो खिलाड़ी उम्मीद जगायेंगे।
पर वक्त खराब है।
५० ओवर से कुछ पहले ही पारी सिमट जायेगी।
सीरीज २-३ पर... हम पीछे फिर से

क्या मैं सही हूँ?

महेन्द्र मिश्र ने कहा…

मैच रोचक होगा......

महफूज़ अली ने कहा…

hum to jeetenge hi kal

vinay ने कहा…

भारत की जीत की कामना करता हूँ ।

lakhiprasadjoshi ने कहा…

hona jo hoga, bas mach ka anad lo,
kamana karo BHARAT MACH JEET JAY
JAI HIND, JAIBHARAT
MEERA BHARAT MAHAN//,

लोकेन्द्र ने कहा…

इंतजार है......

AlbelaKhatri.com ने कहा…

bharat hi jeete
yahi kaamnaa hai

___aapki alekh maala bahut khoob hai

badhaai !

Udan Tashtari ने कहा…

अरे रे, तुक्का न कहिये....हम तो इसी बेसिस पर सट्टा लगाने की सोच रहे थे. बच ही गये समझो!!

सैयद | Syed ने कहा…

इंतज़ार रहेगा...

प्रकाश गोविन्द ने कहा…

वाह क्या बात है संगीता जी
मानता हूँ आपको ... नत मस्तक हूँ जी

बस आप एक अन्य ऐसे ज्योतिषी का पता भी बता दें जिससे मैं आपकी भविष्यवाणियों का सही भावार्थ समझ सकूँ !

अब एक बात और ...
अब जबकि आपने सार्वजनिक तौर पर यह स्वीकार कर लिया है कि ये सब संभावनाओं का विज्ञान है, तो कृपया मुझे बताईये कि इतने दिनों से जब मैं यही बात कह रहा हूँ ....भैया..चाचा...ताऊ यह सब अटकल विज्ञान है तो आपकी बिरादरी को आग क्यूँ लग जाती है

आखिर अटकल और संभावना में फर्क ही कितना है ..... आप स्पष्ट करेंगी ?

संभावना तो यह भी है कि कल मैं आपके स्पष्टीकरण को पढ़ने के लिए दुनिया में ही न रहूँ ? संभावना तो यह भी है कि कल ही भूकंप आ जाए ? संभावना यह भी है कि कल ही आपका दिलो-दिमाग परिवर्तित हो जाए और आप सही दिशा में सोचने लगें ?

राज भाटिय़ा ने कहा…

"हमारे रणबांकुरे कल क्‍या करेंगे ??" अजी जो आज तक करते आये है.....
धन्यवाद

Mrs. Asha Joglekar ने कहा…

हम भी जीत की कामना करते है ।

Vivek Rastogi ने कहा…

भारत जीत जाये यही कामना है।

Mithilesh dubey ने कहा…

हो चाहे कुछ भी , हम तो यही चाहेंगे कि मैच भारत ही जीते। दुआ भी करता हूँ की आपकी भविष्य वाणी सही हो और अन्त में जीत भारत को ही मिले।

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक ने कहा…

जीत भी सकते हैं।
हार तो शर्मनाक ही होगी ना!

sulabhpatra ने कहा…

भारत की जीत हो और आपकी जीत हो

- sulabh

प्रवीण शाह ने कहा…

.
.
.
आदरणीय संगीता जी,
मेरी ४ नवंबर की टिप्पणी देखें, २५० की जगह ३५० पढ़ें, लगभग सब कुछ वैसा ही घटा है।