रविवार, 3 जनवरी 2010

ठंड भरे इस मौसम से 5 जनवरी के बाद ही थोडी राहत मिल पाएगी !!

देश के विभिन्‍न भागों में कुहरे और ठंडी हवा से सर्दी बढती जा रही है, तापमान गिर कर 2 डिग्री तक पहुंच गया है। हालांकि पिछले चार दिनों से शीत लहर का प्रकोप बढ़ गया,जिसके कारण दिन रात के न्यूनतम तापमान में 2 से 3 डिग्री सेल्सियस गिरावट दर्ज हुई है] लेकिन कल से ही मौसम का और भयावह रूप सामने आया है।  मौसम विज्ञान विभाग ने कहा कि आज इस मौसम का अब तक का सबसे घना कोहरा रहा। दृश्यता कम होकर 50 मीटर रह गई। कोहरे के कारण इंदिरा गाँधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर 90 से अधिक उड़ानें प्रभावित हुईं। सत्तर घरेलू उड़ानों में विलंब हुआ, छह रद्द कर दी गईं और 17 अंतरराष्ट्रीय उड़ानें अन्य शहरों में परिवर्तित कर दी गईं। मौसम विज्ञान कार्यालय के मुताबिक रविवार को मध्यम ऊंचाई की पहाड़ियों में वर्षा होने और ऊंचे पहाड़ी इलाकों में वर्षा या हिमपात होने का अनुमान है।

समय समय पर भारतवर्ष के मौसम के बारे में हम अनुमान लगाते आ रहे हैं , इसी क्रम में यह माइक्रो पोस्‍ट प्रेषित कर रही हूं ! 'गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष' के अनुसार मौसम के मामलों में 5 जनवरी तक ग्रहों की स्थिति और बिगड रही है , इसलिए आनेवाले तीन दिनों तक कठिनाई और बढ सकती है। 6 जनवरी से ही थोडी राहत मिलनी शुरू हो जाएगी , जबकि 16 जनवरी के बाद ठंड से काफी राहत मिलेगी।


18 टिप्‍पणियां:

श्यामल सुमन ने कहा…

लेख पढ़ने के बाद कुछ राहत अभी से महसूस कर रहा हूँ संगीता जी।

सादर
श्यामल सुमन
09955373288
www.manoramsuman.blogspot.com

Suman ने कहा…

nice

अनूप शुक्ल ने कहा…

दो दिन की बात है। पांच जनवरी आने ही वाली है।

वाणी गीत ने कहा…

राजस्थान में तो अब जाकर थोड़ी सी ठण्ड हुई है ...!!

काजल कुमार Kajal Kumar ने कहा…

आह ! 16 जनवरी की बात सुन कर मुंह में पानी आ गया वर्ना इस समय बाहर 9 डिग्री व भीतर बमुश्किल 20 किया हुआ है...

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक ने कहा…

राहत देती सी लगी यह पोस्ट।

वन्दना ने कहा…

shukriya.

प्रवीण शाह ने कहा…

.
.
.
आदरणिय संगीता जी,

सही कह रहा है 'गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष' ...
मैंने चैक किया, हमारा मौसम विभाग भी इस बात से इत्तेफाक रखता है।
आभार!

गिरिजेश राव ने कहा…

ब्लॉग जगत का मौसम विभाग अपना काम कर रहा है। राहत हुई।

डॉ टी एस दराल ने कहा…

थोड़ी ठण्ड और पड़ने दो, संगीता जी।
वैसे ही ग्लोबल वार्मिंग की तलवार सर पर लटकती रहती है।
मौसम के बदलाव, जिंदगी में रस बनाये रखते हैं।

संगीता पुरी ने कहा…

टिप्‍पणियों के लिए आभार प्रवीण शाह जी ,
हमारा मौसम विभाग यह जरूर कह सकता है कि आने वाले दो दिनों में मौसम में और गडबडी आएगी .. पर वह यह दावा नहीं कर सकता कि मौसम दो दिनों बाद ठीक हो जाएगा .. ये दावा सिर्फ गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष ही कर सकता है .. साथ ही 16 जनवरी के बाद काफी राहत होने की बात भी मौसम विभाग नहीं कर सकता .. और मौसम के बारे में जनवरी के अंतिम सप्‍ताह की जो भविष्‍यवाणी मेरे द्वारा की गयी थी .. वह मौसम विभाग नहीं कर सकता .. आपकी जानकारी में एक बात दे दूं कि अपने बेटे की यात्रा का रिजर्वेशन मैने दो महीने पहले करवाया था .. 6 जनवरी से उसका कॉलेज खुलनेवाला था .. और मैने 2 जनवरी तक उसके वहां पहुंचने की व्‍यवस्‍था पहले से कर दी थी .. जाते वक्‍त अपने तीन दिनों की छुट्टी को बेकार होते देख मुझसे कुछ नाराज था .. मैने सॉरी बोलकर उसे विदा किया था .. पर 3 को जब ऐसे मौसम और सारे ट्रेनों के देर चलने की सूचना मिली .. तो आज फोन पर उसके खुश होने से मैं निश्चिंत हुई हूं .. आपको यह जानकर खुशी होगी कि .. मौसम के बारे लिखनेवाले अगले आलेख में मैं मोटे तौर पर वर्षभर के मौसम का लेखा जोखा पेश करनेवाली हूं !!

प्रवीण शाह ने कहा…

.
.
.
Weather Outlook (upto 0530 hours IST of 08th January, 2010)

· Dry weather conditions will continue over most parts of the country.

· Minimum temperature will rise slightly over northwest India.

आदरणीय संगीता जी,
आपने शायद लिंक नहीं देखा, मेरी टिप्पणी में मैं इस भविष्यवाणी की बात कर रहा था।

वैसे यह भी देखिये:-
Maximum temperatures are below normal by 6-80C over parts of Uttar Pradesh and Bihar, 4-60C over Punjab and Haryana and 2-40C over East Madhya Pradesh, Chhattisgarh, Jharkhand and Orissa. They are above normal by 2-40C over parts of north Rajasthan, Madhya Maharashtra and north eastern states. They are near normal over rest of the country.

इस समय ठंड हमारे देश के 8/28 राज्यों में ही है ज्यादा, बाकी जगह(20/28 राज्यों में) तापमान या तो सामान्य है या सामान्य से ज्यादा। अत: आपसे अनुरोध करूंगा कि गत्यात्मक ज्योतिष के आधार पर की गई भविष्यवाणी किस राज्य के लिये लागू है यह भी साथ-साथ बताते चलें।

आभार!

Vineet Tomar ने कहा…

आप के लेख से काफी जानकारी मिलती हें क्युकि ज्यादा सही होतीं हें, इस के लिए धन्यबाद.

संगीता पुरी ने कहा…

मौसम की मेरी भविष्‍यवाणियां दक्षिण भारत के बारे में नहीं .. उत्‍तर भारत के अधिकांश प्रदेशों के बारे में होती है .. मौसम की भविष्‍यवाणी करते हुए अगले आलेख में मैं इस बात को साफ करने का प्रयास करूंगी .. कि ग्रहों का प्रभाव किस प्रकार पडता है .. और उसे किस प्रकार देखे जाने की आवश्‍यकता है !!

संगीता पुरी ने कहा…

आनेवाले 5 जनवरी तक कुछ और राज्‍यों का मौसम प्रभावित होगा !!

राज भाटिय़ा ने कहा…

जनवरी मै तो वेसे भी बहुत सर्दी होती है भारत मै, चलिये आप के लेख से बहुत लोग खुश हो गये

डॉ. मनोज मिश्र ने कहा…

अच्छा किया आपनें बता दिया,अभी से राहत है नहीं तो कहीं निकलना मुश्किल हो गया है.

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi ने कहा…

थोड़ी और खुशी दे दी जाए। दिल्ली, राजस्थान, पश्चिमी मध्यप्रदेश, गुजरात, महाराष्ट्र में कल ही मौसम ठीक होने वाला है और अच्छी धूप दिन भर खिली रहेगी। पर इस घोषणा का आधार ज्योतिष कदापि नहीं है।
आप जब भी मौसम संबंधी भविष्यवाणी करें, राज्यों और क्षेत्रों के हिसाब से बताएँ।