गुरुवार, 28 अप्रैल 2011

13 जुलाई से 6 सितंबर तक भरपूर बारिश के ग्रहयोग ...

मौसम विभाग की मानें तो इस बार लोगों को भयंकर गर्मी का सामना भी नहीं करना पड़ेगा। मौसम विभाग ने कहा है कि इस साल दक्षिण पश्चिम मानसून की चाल पिछले साल के मुकाबले बेहतर चल रही है। मौसम विभाग ने इस साल मानसून सामान्य रहने की भविष्यवाणी की है। उसे दीर्घावधि प्रतिशत के रूप में देश में 98 से 110 फीसदी बारिश होने की उम्मीद है। पहले चरण के इस पूर्वानुमान के बाद जून में दूसरे चरण का पूर्वानुमान जारी किया जाएगा। मौसम वैज्ञानिकों ने यह भी कहा कि पश्चिमोत्तर भारत के कुछ हिस्सों में सामान्य से कम बारिश हो सकती है।


'गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष' के हिसाब से भी इस वर्ष के ग्रहयोग प्रचुर वर्षा करवाने में कामयाब हो सकते है। 7 मई तक शुभ ग्रह का जितना प्रभाव भारतवर्ष के मौसम को सुहावना बनाए रखने पर था , उतना अच्‍छा प्रभाव तो आगे नहीं रहेगा , इसलिए 7 मई के बाद पूरे मई और जून में गर्मी कुछ बढ सकती है , हालांकि पिछले कुछ वर्षों के अनुपात में प्रचंडता इस वर्ष कम दिनों के लिए रहेगी। मौसम विभाग के हिसाब से मानसून जुलाई के प्रथम सप्‍ताह में आने की उम्‍मीद है , पर ग्रहों के हिसाब से इस वर्ष जुलाई के प्रथम सप्‍ताह में गर्मी बने रहने की संभावना है। इसलिए मानसून के आने में कुछ देर की संभावना है।


बारिश का अच्‍छा योग 13 जुलाई से 6 सितंबर के मध्‍य है। इस समय भारतवर्ष के अधिकांश क्षेत्रों में प्रचुर बारिश होगी। खासकर 13 जुलाई और 6 सितंबर के आसपास के पंद्रह दिन बहुत अधिक बारिश वाले होंगे , जिससे किसानों को सुविधा होगी । इसके अलावे 17 अगस्‍त के आसपास भी बहुत सारे क्षेत्रों में अत्‍यधिक बारिश के कारण बाढ जैसी परेशानियों का भी सामना करना पड सकता है। 6 सितंबर के बाद के ग्रहयोग बारिश कम करवाने वाले होंगे , इस वक्‍त कई क्षेत्रों में बारिश कुछ कम होगी । जबकि खरीफ की फसल को इसके बाद भी सिंचाई की आवश्‍यकता पडती है। इसलिए इस समय के लिए कुछ वैकल्पिक व्‍यवस्‍था करने की आवश्‍यकता होगी।

9 टिप्‍पणियां:

भारतीय नागरिक - Indian Citizen ने कहा…

bas is baar baadh n aaye...

Udan Tashtari ने कहा…

चलिये अच्छा है....भरपूर हो मगर अत्याधिक नहीं कि कहर बरप जाये.

एम सिंह ने कहा…

बारिश अच्छी होगी तो खेती भी अच्छी होगी.. हम यही तो चाहते हैं..

तीखे तड़के का जायका लें
संसद पर एटमी परीक्षण

राज भाटिय़ा ने कहा…

सरकार को चाहिये अभी से बाढ के रोक थाम के इंतजाम कर ले...

cmpershad ने कहा…

यह तो शुभसमाचार है :)

विष्णु बैरागी ने कहा…

आपकी दी हुई तारीखें लिख ली हैं। आपने एक स्‍थान पर 'भरपूर' और एक स्‍थान पर 'प्रचुर' लिखा है। कुल मिलाकर आपने सुखद सूचनाऍं दी हैं।

रमेश कुमार जैन उर्फ़ "सिरफिरा" ने कहा…

दोस्तों, क्या सबसे बकवास पोस्ट पर टिप्पणी करोंगे. मत करना,वरना......... भारत देश के किसी थाने में आपके खिलाफ फर्जी देशद्रोह या किसी अन्य धारा के तहत केस दर्ज हो जायेगा. क्या कहा आपको डर नहीं लगता? फिर दिखाओ सब अपनी-अपनी हिम्मत का नमूना और यह रहा उसका लिंक प्यार करने वाले जीते हैं शान से, मरते हैं शान से (http://sach-ka-saamana.blogspot.com/2011/04/blog-post_29.html )

रमेश कुमार जैन उर्फ़ "सिरफिरा" ने कहा…

दोस्तों, क्या सबसे बकवास पोस्ट पर टिप्पणी करोंगे. मत करना,वरना......... भारत देश के किसी थाने में आपके खिलाफ फर्जी देशद्रोह या किसी अन्य धारा के तहत केस दर्ज हो जायेगा. क्या कहा आपको डर नहीं लगता? फिर दिखाओ सब अपनी-अपनी हिम्मत का नमूना और यह रहा उसका लिंक प्यार करने वाले जीते हैं शान से, मरते हैं शान से (http://sach-ka-saamana.blogspot.com/2011/04/blog-post_29.html )

ब्लॉ.ललित शर्मा ने कहा…

6 sitambar ko bharpur barish ho rahi hai.

satik ankaln kiya.......

aabhar