मंगलवार, 6 सितंबर 2011

आज की ग्रहीय स्थिति भी लगभग पहले एकदिवसीय के समान ही !!



ग्रहों की स्थिति को देखते हुए पिछले मैच के बारे में पूर्वानुमान लगते हुए मैंने यह लेख लिखा था, मेरा अनुमान सही रहा. मेरे कहे अनुसार ही टॉस इंग्लॅण्ड ने ही जीता ,वैसे भारत ने इंग्लैंड दौरे में पहली बार शानदार बल्लेबाजी का प्रदर्शन करते हुए इंग्लैंड के खिलाफ पहले वनडे में मजबूत स्कोर बना लिया था,दूसरी पारी में भी इसने ७ ओवर और २७ रन पर दो विक्केट ले लिए थे. पर दूसरे ही तरीके से , लेकिन मेरे लिखे अनुसार ही सात बजे से आठ बजे तक के बुरे ग्रहों ने अपना प्रभाव दिखा ही दिया और वर्षा के कारण यह मैच रद्द हो जाने से भारतीयों की उम्मीदों पर पानी फिर गया। फिर खेल संभव नहीं हो पाया और अन्तत: मैच रद्द करना पड़ा .

इसलिए तो कहते हैं , समय बड़ा बलवान होता है। किसी खास समयांतराल में हमारी खास चिंतन-शैली होती है। खास समय में हम सफलताओं से संतुष्ट और खास समय में ही असफलताओं से दुखी होते हैं। इसी समय को प्रभावित करनेवाले कारकों को जानने के क्रम में ही हमारे ऋषि-मुनियों को यह दृष्टिगोचर हुआ था कि आकाश के विभिन्न ग्रहों की खास कोणों में स्थिति से ही पृथ्वीवासी अलग-अलग तरीके से प्रभावित होते हैं। क्रिकेट अनिश्चितताओं का खेल है। इस क्षेत्र के विशेषज्ञों द्वारा टीम की तैयारी और क्रिकेट के पीच को ध्यान में रखते हुए भी समय-समय पर क्रिकेट मैच के बारे में भविष्यवाणियॉ की जाती हैं , परंतु संभावना और सत्यता में तालमेल का प्रतिशत बहुत कम ही देखा गया है। उस हिसाब से 'गत्यात्मक ज्योतिष' की पद्धति से किसी भी मैच के बारे में पूर्वानुमान अधिक सटीक ढंग से किया जा सकता है. 

6 सितंबर को इंगलैंड के खिलाफ दूसरे एकदिवसीय मैच में भी भारतीय टीम की स्थिति लगभग पहले दिन के समान ही रहेगी। भारतीय समयानुसार 18:30 से आरंभ होनेवाले इस मैच के वक्‍त की ग्रहीय स्थिति इंगलैंड के ही पक्ष में रहेगी। इसलिए शुरूआती दो घंटों में उसकी स्थिति मजबूत बनेगी। पर उसके बाद भारतीय टीम चुस्‍त दुरूस्‍त होकर उनकी स्थिति को नियंत्रित करने की कोशिश करेगी। हालांकि पहली पारी के अंत में इंगलैंड की ही स्थिति मजबूत बनी रहेगी। दूसरी पारी की शुरूआत भारत के लिए महत्‍वपूर्ण रह सकती है,पर साढे नौ बजे रात्रि से लेकर साढे ग्‍यारह बजे तक ग्रहों की प्रतिकूल स्थिति के प्रभाव से इंकार नहीं किया जा सकता , जिसके कारण भारतीय टीम पूरे दबाब में रहेगी। पर उसके बाद क्रमश: स्थिति अच्‍छी होती चली जाएगी और यदि भारतीय टीम को खेलने के लिए डेढ घंटे भी और मिल गए , तो जीत की उम्मीद रखी जा सकती है, जैसा कि मैने पहले मैच के बारे में भी लिखा था।

6 टिप्‍पणियां:

रजनी मल्होत्रा नैय्यर ने कहा…

namskaar sangeeta ji, maine aapki bhavishyvani ko hamesha milte dekha hai ghatnaon se aabhar ...

Murari Pareek ने कहा…

आपका शुक्रिया जो इस गुह्य ज्ञान को आवंटित करती है !!!

संगीता स्वरुप ( गीत ) ने कहा…

चलिए उम्मीद तो कर ही लेते हैं ...

अभिषेक मिश्र ने कहा…

Is daure ki sthiti to aap bata hi de rahi hain. Main ab soch raha hun Inke Bangladesh ya Kenya daure ke bare mein sochun.Vaise Inki pratibha shayad mmujhe vahan bhi dhokha de jaye !!!

डॉ. मनोज मिश्र ने कहा…

अच्छी जानकारी,आभार.

भारतीय नागरिक - Indian Citizen ने कहा…

सब हम ही जीत जायेंगे तो हारेगा कौन.