सोमवार, 23 अप्रैल 2012

गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष पर आधारित हमारे सॉफ्टवेयर से बनी पूरी कुंडली .. एक नमूना

सभी लोगों को मालूम है कि अंधविश्‍वास का मूल कारण अज्ञानता है , जिन प्रश्‍नों का उत्‍तर विज्ञान नहीं ढूंढ पाया है , उसका जबाब ढूंढने की जनसामान्‍य की जिज्ञासा स्‍वाभाविक है और उसी का फायदा धर्म के नाम पर समाज के कुछ लोग उठाते आ रहे हैं। पिछले लेख में मैने लोगों को जानकारी दी थी कि जन्‍म कालीन ग्रहों का प्रभाव मनुष्‍य के जीवन के विभिन्‍न संदर्भों के सुख दुख , उसकी जीवनशैली , उसके जीवन के उतार चढाव पर पडता है और विभिन्‍न प्रकार के ग्राफों के सहारे इसे स्‍पष्‍ट बताया जा सकता है। इसी के आधार पर हम किसी को परिस्थिति के हिसाब से चलने की सलाह देते हैं । सॉफ्टवेयर को पूरा अपडेट कर दिया गया है , ताकि छोटे बच्‍चों की जन्‍मकुंडली और ग्राफ भी खींचे जा सके और उनके हमारे सॉफ्टवेयर से लोगों की जन्‍म कुंडली बनने काबारे में भी अभिभावकों को जानकारी दी जा सके। हमारे सॉफ्टवेयर से निकलने वाली कुंडली का एक नमूना , जिसमें ग्राफ और समययुक्‍त भविष्‍यवाणियों को मिलाकर कुल16 पृष्‍ठों का समावेश है , इस पोस्‍ट में पेश है ....

































इसमें आप पाएंगे कि जो ग्राफ में दिख रहा है वहीं विवरण में भी है।  लोग यह मानते हैं कि ज्‍योतिष अंधविश्‍वास है .. उनका भ्रम इस सॉफ्टवेयर से बनी जन्‍मकुंडली को देखने के बाद मिट जाएगा , इस पूरी कुंडली के लिए हमे 1000/- मात्र की सहयोग राशि हमें भेजनी होगी। पूरे परिवार के चार लोगों की जन्‍मकुंडली के लिए 2500/- मात्र देने होते हैं। भूत नहीं भविष्‍य को जानें अब ......