रविवार, 27 अक्तूबर 2019

हमारे एप्प के बारे में जानकारी

कैसा अंतर्विरोध है कि जिस ज्योतिष को लोग अंधविश्वास मानते हैं , उसी ज्योतिष की एक मामूली राशिफल पढने के लिए आधी आबादी बेचैन भी रहती है , दुनिया भर के पत्र पत्रिकाओं में राशिफल का प्रकाशन और मेरे चिट्ठे पर सर्च इंजिन से ‘राशिफल’ ढूंढते हुए इतने सारे पाठकों का आना इसकी पुष्टि तो अवश्य करता है। परंतु बात यहीं पर ही समाप्त नहीं होती , राशिफल पढने के बाद अधिकांश लोग फिर इसकी बातों को हंसी मजाक में ही लेते हैं। दुनिया भर के लोगों की इस मानसिकता का कोई अर्थ लगा पाना तो सचमुच बडा मुश्किल है। दुनिया भर के लोगों को 12 भाग में विभाजित कर करोडो लोगों के लिए एक विशेष समयांतराल में एक जैसा भविष्यतफल का लिखा जाना तो संदेह उत्पन्न करने के लिए काफी है ही , दूसरी ओर विभिन्नब पत्रिकाओं में विभिन्न  पंडितों द्वारा एक ही राशिफल के लोगों के लिए अलग अलग गणना से ही लोगों का राशिफल से विश्वास उठ जाता है।

चंद्र या सूर्य राशिफल पर अधारित भविष्यवाणियों पर मेरा खुद भी विश्वास नहीं , इसलिए मैने अपने पाठकों के लिए ‘लग्न  राशिफल’ की शुरूआत की थी , इसे शुरू करने से पहले मैने इसकी वैज्ञानिकता के पक्ष में कुछ तर्क भी इस आलेख दिए थे। इस भविष्यफल पर बिल्कुिल संदेह नहीं किया जा सकता , पर अलग अलग लोगों के लिए इसके स्त‍र में अंतर होता है। इस लग्नी राशिफल की चर्चा विभिन्न ग्रहों की गत्यासत्मुक शक्ति के आधार पर की जाती है , वे ग्रह सभी लोगों पर प्रभाव डालते हैं , पर विभिन्न लग्नवालों के लिए संदर्भों में भिन्न्ता होती है।            अब इससे भी आगे बढ़कर हमारा एप्प किसी व्यक्ति के लग्न,  सूर्य और चंद्र को देखकर नहीं,  बल्कि  जन्मकालीन सभी ग्रहों और गोचर यानि अभी चल रहे ग्रहों में आपस के तालमेल को देखते हुए आपपर उनके पड़ने वाले ऋणात्मक,  धनात्मक या सामान्य प्रभाव की चर्चा करेगा,  उन्हें हर कदम पर गाइड भी करेगा. साल के 365 दिनों में से अधिकांश आपके लिए सामान्य होता है,  पर कभी कभी अधिक धनात्मक या ऋणात्मक होता है,  उनकी सुचना आपको पहले से मिल जाये,  उसके उपाय के बारे में आपको पहले से जानकारी मिल जाये,  इसका हमने इस एप्प को विकसित करने में पूरा प्रयास किया है.

शुक्रवार, 25 अक्तूबर 2019

एप्प अपने अंतिम चरण में है

किसी भी देश को सूर्य की ऊर्जा का 50% ही मिल पाता है। दिनभर उसका उपयोग करके रात्रि में हम चैन की नींद सो जाते हैं , बिजली उत्पादन समर्थ होते हुए भी हमलोग 24 घंटे काम नहीं कर सकते। चन्द्रमा भी सबको अपनी चांदनी का 50% ही लुटाता है। चांदनी की कमी का हमारे जीवन पर उतना तो नहीं , पर अनेकों पशु-पक्षियों पर इसका प्रभाव पड़ता है। इसी तरह अन्य ग्रह भी सामूहिक तौर पर कहीं भी अपनी शक्ति का 50 प्रतिशत ही आपको प्रदान करते हैं , जो हमें चंद्र की तरह स्पर्श नहीं दिखाई देता। लगभग सभी देशों में इसी हिसाब से हमने काम और आराम, प्रयास और सफलता का समय निर्धारित किया हुआ है।
पर व्यक्तिगत तौर पर हमपर ये ग्रह ऐसा प्रभाव नहीं डालते। जन्म के समय ये ग्रह किसी पर 100% मेहरबान हो जाते हैं , किसी को 50% तो किसी को 0% भी मिलता है। ग्रहों की इसी स्थिति के काऱण कोई किसी मामले में सुखी, किसी मामलों में सामान्य और किसी मामलों में दुःख की अनुभूति करता है। इतना ही नहीं, अपनी जीवनयात्रा में मनुष्य को कोई समय आरामदायक , कोई समय सामान्य अवस्था का और कोई समय कष्टकर दीखता है .समय अच्छा होता है तो रोज धनतेरस और दीपावली होती है , अन्यथा सब गड़बड़। इन्ही ग्रहों के कारण, जो किसी पर 100% मेहरबान हो जाते हैं , किसी को 50% तो किसी को 0% भी मिलता है। इसी आधार पर गत्यात्मक ज्योतिष में पूरे जीवन के उतार-चढ़ाव का लेखाचित्र और जीवन के सभी मामलों के सुख-दुःख को पाई चार्ट में दिखलाने में सफलता पायी।
हमलोग रिसर्च में और आगे बढे तो मालूम हुआ , सिर्फ जन्म के समय में ही नहीं , गोचर में भी यानि आसमान में चलते हुए भी ये ग्रह किसी दिन आपपर 100% मेहरबान हो जाते हैं , किसी को 50% तो किसी को 0% भी मिलता है। ग्रहों की इसी स्थिति के काऱण कभी कभी पुरे वर्ष , कभी किसी महीने, किसी दिन या किसी घंटे भी व्यक्ति किसी मामले में सुखी, किसी मामलों में सामान्य और किसी मामलों में दुःख की अनुभूति करता है। इसी को समझते हुए प्रचलित चंद्र राशिफल, सूर्य राशिफल से एक कदम आगे बढ़ते हुए हमने लग्नराशिफ़ल की शुरुआत की थी ।
ग्रहों के इस रहस्य को समझने के बाद काफी दिनों से मेरी इच्छा एक ऐसा एंड्राइड ऐप्प बनाने की थी , जो आसमान में चल रहे ग्रहों के आपपर पड़ने वाले धनात्मक , ऋणात्मक और सामान्य प्रभाव को आपके मोबाइल तक पहुंचा सके। ग्रह के इस प्रभाव के हिसाब से ही आपको अपने कार्यक्रम बनाने में मदद कर सके। क्या करें और क्या न करें , इसका सुझाव भी दे सके। आपलोगों को यह जानकार ख़ुशी होगी कि यह एप्प अपने अंतिम चरण में है .यह एप्प आपके जन्मकालीन और गोचर के सारे ग्रहों , दोनों के परस्पर तालमेल से के आधार पर भविष्यफल देने में समर्थ होगा. शीघ्र ही आपके लिए प्लेस्टोर में उपलब्ध होगा। इस एप्प के नाम और पते की जानकारी बाद में दी जाएगी।
इस एप्प में बहुत अधिक ध्यान संकेन्द्रण के कारण हमारे केंद्र में बहुत सारे गत्यात्मक ज्योतिष प्रेमियों को अपनी गत्यात्मक कुंडली या सेवा लेने के लिए इंतज़ार करना पड़ रहा है , आशा है , वे क्षमा करेंगे। हम शीघ्र ही उनको सेवा देने में समर्थ हो जायेंगे।

शनिवार, 6 अप्रैल 2019

नए वर्ष की अनंत शुभकामनायें .. जल्द ही हमारा एप्प आने वाला है !!

भारत के विभिन्न हिस्सों में नव वर्ष अलग-अलग तिथियों को मनाया जाता है। गणना की सुविधा को देखते हुए आज अंतर्राष्ट्रीय मानकों में अंग्रेजी केलेन्डर ने मान्यता पायी है ।पर ग्रंथों की मान्यता है कि सृष्टि की शुरुआत चैत्र शुदी १ को हुई थी, इसलिए इस दिन को नवसंवत्सर यानी साल का पहला दिन माना जाता है। नव वर्ष की प्रणाली ब्रह्माण्ड पर आधारित होती है, यह तब शुरु होता है जब सूर्य या चंद्रमा मेष के पहले बिंदु में प्रवेश करते हैं। पर प्रत्येक वर्ष सूर्य और चंद्रमा दोनों का उस विन्दु पर प्रवेश एक साथ नहीं होता, इसलिए भारत के अलग-अलग क्षेत्रों में इस तरह के कई संवत्सरों को मान्यता प्राप्त है। लगभग सभी प्रदेशों में अलग-अलग नामों से मार्च-अप्रैल के महीने में नया वर्ष मनाया जाता है। बंगाल में १४ या १५ अप्रैल को मनाया जाने वाला त्यौहार के साथ ही नए वर्ष मानाने का सिसिला समाप्त हो जाता है। यदि हम अंग्रेजी के केलिन्डर के नामों को देखें तो सितम्बर-अक्टूबर-नवंबर-दिसंबर अंक ७-८-९-१० का प्रतिनिधित्व करता दिखता है। ऐसा भी तभी संभव है, जब साल की शुरुआत मार्च से हो। भारतवर्ष में मार्च-अप्रैल में वसंत का मौसम होता है, पेड़-पोधों मे फूल-मंजर-कली की शुरुआत होती है, कोयल की कूक वातावरण को खुशनुमा बनाती है। घर फसलों से भरे होते हैं, शायद इसलिए भी यह त्यौहार मानाने का समय माना जाता है।

हमारे क्लाइंट्स को हमारे अनुभव का लाभ अच्छे से पहुँच पाए, इसके लिए पिछले पांच साल से एक एप्प को लांच करने की आवश्यकता थी। पर परिवार में किसी न किसी की अस्वस्थता और पारिवारिक उलझनों की वजह से बात नहीं बन पा रही थी। पिछले साल से ही कठिन श्रम के बाद 'गत्यात्मक ज्योतिष' के एप्प को नए साल में लांच करने की पूरी तैयारी चल रही थी, पर नए साल से पहले ही २३ दिसम्बर २०१८ को मेरी मम्मी हमारा साथ छोड़कर ब्रह्माण्ड में विलीन हो गयी। आज नए वर्ष पर इसे लांच करने के लिए मैं दिल्ली आयी हूँ, पर 'गत्यात्मक ज्योतिष' के जनक हमारे पापाजी जरूरी कार्य से झारखण्ड में हैं। उनका आशीर्वाद के बिना कोई कार्य नहीं किया जा सकता, अतः पापाजी का इंतज़ार कर रही हूँ। अभी पुरे देश में नए वर्ष मानाने का सिलसिला चल ही रहा है, किसी प्रदेश के नए वर्ष पर हमारा एप्प प्लेस्टोर में आ जायेगा। यह भी हो सकता है कि १५ अप्रैल के बाद हम इसे प्लेस्टोर में डाल पाएं। यदि ऐसा हुआ तो 'गत्यात्मक ज्योतिष' के कारण भारतवर्ष में नया वर्ष मनाने का विस्तार १४ अप्रैल से भी आगे आगे बढ़ सकता है। जल्द ही आ रहा है हमारा एप्प , आप सबों को नए वर्ष की अनंत शुभकामनायें !!

बुधवार, 3 अप्रैल 2019

Lagna Rashifal

मेष लग्नवालों के लिए - 3 और 4 अप्रैल 2919 को बुद्धि ज्ञान के मामलों के लिए महत्वपूर्ण होंगे, संतान पक्ष के मामलों में महत्वपूर्ण निर्णय लिए जा सकते हैं। माता पक्ष के किसी कार्यक्रम में बाधा उपस्थित होगी, वाहन या किसी प्रकार की संपत्ति कष्ट का कारण बनेगी। इनसे संबंधित किसी कार्यक्रम में निराशा हाथ आ सकती है!  भाग्य , भगवान , धर्म . ये सब चिंतन के विषय बने रहेंगे। किसी धार्मिक क्रियाकलाप में व्यस्तता रहेगी! आध्यात्म की ओर भी ध्यान जाएगा। कोई बडा खर्च उपस्थित होगा, बाह़य संबंध मजबूत होंगे, पर बाहरी व्यक्ति या बाहरी स्थान से  तालमेल बनाने की आवश्यकता पड सकती है।  
वृष लग्नवालों के लिए - 3 और 4 अप्रैल 2919 को  किसी कार्यक्रम में माता पक्ष का भी महत्व दिख सकता है, वाहन या किसी प्रकार की छोटी या बडी संपत्ति को प्राप्त करने के लिए मेहनत जारी रहेगी। भाई.बहन,बंधु बांधवों से विचार के तालमेल का अभाव बनेगा, सहकर्मियों से भी संबंध में गडबडी आएगी। रूटीन काफी सुव्यवस्थित होगा , जिससे समय पर सारे कार्यों को अंजाम दिया जा सकेगा।  काफी महत्वपूर्ण लाभ की संभावना है , इसे प्राप्त करने के लिए प्रयास बनेगा। कार्यक्रमों के प्रति गंभीरता बनी रहेगी। 
मिथुन लग्नवालों के लिए - 3 और 4 अप्रैल 2919 को   भाई , बहन , बंधु बांधवों का महत्व बढेगा, उनके कार्यक्रमों के साथ तालमेल बैठाने की आवश्यकता पड सकती है।  धन की स्थिति कमजोर दिखाई देगी, इसे मजबूत बनाने का हर प्रयास बेकार होगा।  ससुराल पक्ष का महत्व बढेगा , ससुराल पक्ष के किसी कार्यक्रम में तालमेल बनाने की आवश्यकता पड सकती है।  किसी सामाजिक कार्यक्रम में पिता पक्ष का महत्व दिखाई देगा, कर्मक्षेत्र में भी बडी जबाबदेही मिल सकती है।प्रतिष्ठा बढने वाली कोई बात हो सकती है। 
कर्क लग्नवालों के लिए - 3 और 4 अप्रैल 2919 को धन की स्थिति मजबूत होगी, इसे मजबूत बनाने के कार्यक्रम भी बनेंगे। संपन्न लोगों से विचार विमर्श होगा। स्वास्थ्य काफी गडबड रहेगा, आत्मविश्वास की कमी बनेगी, व्यक्तित्व कमजोर दिखाई देगा। प्रभावशाली लोगों से संबंध की मजबूती बनेगी। कुछ झंझटों को सुलझाने में अपने प्रभाव का पूरा उपयोग करना होगा। भाग्य, भगवान, धर्म, ये सब चिंतन के विषय बने रहेंगे। किसी धार्मिक क्रियाकलाप में व्यस्तता रहेगी! आध्यात्म की ओर भी ध्यान जाएगा। 
सिंह लग्नवालों के लिए - 3 और 4 अप्रैल 2919 को स्वास्थ्य या व्यक्तिगत गुणों को मजबूती देने के कार्यक्रम बनेंगे, स्मार्ट लोगों का साथ मिलेगा। बेवजह के उपस्थित खर्चों से परेशानी होगी, बाहरी व्यक्ति या बाहरी स्थान से तकलीफ होगा।  बुद्धि ज्ञान के मामलों के लिए महत्वपूर्ण होंगे , संतान पक्ष के मामलों में महत्वपूर्ण निर्णय लिए जा सकते हैं। रूटीन काफी सुव्यवस्थित होगा , जिससे समय पर सारे कार्यों को अंजाम दिया जा सकेगा।  
कन्या लग्नवालों के लिए - 3 और 4 अप्रैल 2919 को  कोई बडा खर्च उपस्थित होगा, बाह़य संबंध मजबूत होंगे, पर बाहरी व्यक्ति या बाहरी स्थान से  तालमेल बनाने की आवश्यकता पड सकती है। लाभ के कमजोर रहने से तनाव बनेगा। लक्ष्य की ओर बढने में बाधा उपस्थित होगी  किसी कार्यक्रम में माता पक्ष का भी महत्व दिख सकता है, वाहन या किसी प्रकार की छोटी या बडी संपत्ति को प्राप्त करने के लिए मेहनत जारी रहेगी। ससुराल पक्ष का महत्व बढेगा , ससुराल पक्ष के किसी कार्यक्रम में तालमेल बनाने की आवश्यकता पड सकती है।  
तुला लग्नवालों के लिए - 3 और 4 अप्रैल 2919 को  काफी महत्वपूर्ण लाभ की संभावना है, इसे प्राप्त करने के लिए प्रयास बनेगा। कार्यक्रमों के प्रति गंभीरता बनी रहेगी  पिता पक्ष काफी कमजोर बना रहेगा, कर्मक्षेत्र में भी परेशानी रहेगी। प्रतिष्ठा पर आंच आ सकती है।  भाई , बहन , बंधु बांधवों का महत्व बढेगा , उनके कार्यक्रमों के साथ तालमेल बैठाने की आवश्यकता पड सकती है। प्रभावशाली लोगों से संबंध की मजबूती बनेगी। कुछ झंझटों को सुलझाने में अपने प्रभाव का पूरा उपयोग करना होगा।  
वृश्चिक लग्नवालों के लिए - 3 और 4 अप्रैल 2919 को  किसी सामाजिक कार्यक्रम में पिता पक्ष का महत्व दिखाई देगा, कर्मक्षेत्र में भी बडी जबाबदेही मिल सकती है।प्रतिष्ठा बढने वाली कोई बात हो सकती है। संयोग के न बन पाने से कोई असफलता दिखाई पड सकती है। किसी धार्मिक क्रियाकलापों के बाद भी निराशा ही बनेगी। धन की स्थिति मजबूत होगी , इसे मजबूत बनाने के कार्यक्रम भी बनेंगे। संपन्न लोगों से विचार विमर्श होगा। बुद्धि ज्ञान के मामलों के लिए महत्वपूर्ण होंगे , संतान पक्ष के मामलों में महत्वपूर्ण निर्णय लिए जा सकते हैं।  
धनु लग्नवालों के लिए - 3 और 4 अप्रैल 2919 को भाग्य , भगवान , धर्म . ये सब चिंतन के विषय बने रहेंगे। किसी धार्मिक क्रियाकलाप में व्यस्तता रहेगी! आध्यात्म की ओर भी ध्यान जाएगा। रूटीन काफी अस्त व्यस्त रहेगा और किसी घटना का प्रभाव जीवनशैली पर बुरे ढंग से पडेगा। स्वास्थ्य या व्यक्तिगत गुणों को मजबूती देने के कार्यक्रम बनेंगे, स्मार्ट लोगों का साथ मिलेगा।  किसी कार्यक्रम में माता पक्ष का भी महत्व दिख सकता है, वाहन या किसी प्रकार की छोटी या बडी संपत्ति को प्राप्त करने के लिए मेहनत जारी रहेगी। 
मकर लग्नवालों के लिए - 3 और 4 अप्रैल 2919 को रूटीन काफी सुव्यवस्थित होगा , जिससे समय पर सारे कार्यों को अंजाम दिया जा सकेगा। घर गृहस्थी का वातावरण अच्छा नहीं दिखाई देगा, ससुराल पक्ष का तनाव उपस्थित हो सकता है। प्रेम संबंध में भी कुछ दूरी बनेगी। भाई , बहन , बंधु बांधवों का महत्व बढेगा, उनके कार्यक्रमों के साथ तालमेल बैठाने की आवश्यकता पड सकती है।  कोई बडा खर्च उपस्थित होगा, बाह़य संबंध मजबूत होंगे, पर बाहरी व्यक्ति या बाहरी स्थान से  तालमेल बनाने की आवश्यकता पड सकती है।  
कुंभ लग्नवालों के लिए - 3 और 4 अप्रैल 2919 को  ससुराल पक्ष का महत्व बढेगा, ससुराल पक्ष के किसी कार्यक्रम में तालमेल बनाने की आवश्यकता पड सकती है। कुछ झंझट उपस्थित होंगे, पर झंझटों को सुलझाने में प्रभाव की कमजोर स्थिति के कारण दिक्कत आएगी। धन की स्थिति मजबूत होगी, इसे मजबूत बनाने के कार्यक्रम भी बनेंगे। संपन्न लोगों से विचार विमर्श होगा। काफी महत्वपूर्ण लाभ की संभावना है, इसे प्राप्त करने के लिए प्रयास बनेगा। कार्यक्रमों के प्रति गंभीरता बनी रहेगी। 
मीन लग्नवालों के लिए - 3 और 4 अप्रैल 2919 को  प्रभावशाली लोगों से संबंध की मजबूती बनेगी। कुछ झंझटों को सुलझाने में अपने प्रभाव का पूरा उपयोग करना होगा। अपनी या संतान पक्ष की पढाई लिखाई का वातावरण कमजोर रहेगा, इस कारण किसी प्रकार का ज्ञान प्राप्त करना कठिन रहेगा। संतान के अन्य किसी पक्ष से से संबंधित माहौल भी कमजोर बना रहेगा। स्वास्थ्य या व्यक्तिगत गुणों को मजबूती देने के कार्यक्रम बनेंगे, स्मार्ट लोगों का साथ मिलेगा। किसी सामाजिक कार्यक्रम में पिता पक्ष का महत्व दिखाई देगा, कर्मक्षेत्र में भी बडी जबाबदेही मिल सकती है। प्रतिष्ठा बढने वाली कोई बात हो सकती है।