सोमवार, 19 जनवरी 2009

किशोरावस्‍था में आप संतुलित व्‍यक्तित्‍व वाले थे या नहीं ? ( Astrology )

मेरे पिछले आलेख ( इस और इस ) में आपने पढा कि ग्रहों के प्रभाव से किस प्रकार कुछ खास तिथियों और उसके आसपास जन्‍म लेनेवाले बच्‍चे बहिर्मुखी और अंतर्मुखी स्‍वभाव के हो जाते हैं। पर इसके अलावे कभी कभी कुछ ग्रहों की खास स्थिति ऐसी बन जाती है कि उस दिन जन्‍म लेनेवाले सभी बच्‍चों की जन्‍मकुडली में उनके संतुलित होने का योग उत्‍पन्‍न हो जाता है। इस योग के कारण ही कुछ किशोरों के समक्ष किशोरावस्‍था में यानि 12 वर्ष की उम्र से 24 वर्ष की उम्र तक , खासकर 12 वर्ष से 18 वर्ष की उम्र तक की पूरी परिस्थितियां महत्‍वपूर्ण बनी होती हैं । विद्यार्थी जीवन में ये बड़ा स्तर प्राप्त करते हैं। ये 12 वर्ष से 24 वर्ष की उम्र में अपने बौद्धिक विकास , सूझ-बूझ , शिक्षा-दीक्षा के प्रति तथा अन्‍य उत्तरदायित्व को गंभीरतापूर्वक लेते हैं। नियमित रुप से बौद्धिक विकास के कार्यक्रम को अंजाम देने तथा संबंधित चुनौतियों को हल करने में इनकी दिलचस्पी होती है। ये अपनी महत्वाकांक्षा , कार्यक्षमता , स्तर और मौलिकता को बनाए रखने में काफी जागरुक होते हैं। किशोरावस्था में बालकों के बीच आकर्षक व्यक्तित्व और आदर्श के रुप में चर्चित होते हैं। ये विद्याध्ययन काल में इस ढंग से विद्या अर्जित करने के पक्ष में होते हैं , ताकि संबंधित विषय पर उसका पूर्ण नियंत्रण बना रहे। परंतु महत्‍वपूर्ण होने के बावजूद इनमें से 50 प्रतिशत ही सफल और बाकी 50 प्रतिशत असफल रहते हैं। 18 वर्ष की उम्र तक यह स्‍वभाव चरम सीमा तक देखा जा सकता है , पर उसके बाद धीरे धीरे अधिकांश किशोरों में यह स्‍वभाव परिवर्तित होने लगता है , जबकि कुछ किशोरों में यह प्रवृत्ति बढ भी जाती है ।


गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष द्वारा विकसित किए गए एक विशेष सिद्धांत के आधार पर 1950 से 1994 तक की खास खास तिथियों को पाठको के लिए प्रस्‍तुत किया जा रहा है ,जिस दिन जन्‍म लेने वाले न सिर्फ सारे लोगों में किशोरावस्‍था में ही संतुलित व्‍यक्तित्‍व शत प्रतिशत दिखाई पडा रहा होगा , बल्कि उसके दस दिन पहले से लेकर दस दिन बाद तक जन्‍म लेनेवालों में भी ये गुण बडे प्रतिशत में अवश्‍य देखने को मिलेगा। इन तिथियों से जितने ही दूर लोगों का जन्‍म हुआ होगा , उनमें संतुलित होने का स्‍वभाव क्रमश: कम होता चला जाएगा। ये तिथियां निम्‍न हैं………


1950 में 12 फरवरी , 27 अप्रैल , 12 जून , 20 अगस्‍त और 11 दिसम्‍बर ,
1951 में 25 जनवरी , 2 अप्रैल , 23 मई , 31 जुलाई , 20 सितम्‍बर और 28 नवम्‍बर,
1952 में 8 जनवरी , 17 मार्च , 2 मई , 13 जुलाई , 3 सितम्‍बर , 7 नवम्‍बर और 30 दिसम्‍बर,
1953 में 25 फरवरी , 17 अप्रैल , 26 जून , 17 अगस्‍त , 19 अक्‍तूबर , 5 दिसम्‍बर,
1954 में 10 फरवरी , 28 मार्च , 11 जून , 29 जुलाई , 7 अक्‍तूबर , 17 नवम्‍बर ,
1955 में 27 जनवरी , 11 मार्च 21 मई , 9 जुलाई , 16 सितम्‍बर , 29 अक्‍तूबर,
1956 में 10 जनवरी , 22 फरवरी , 1 मई , 21 जून , 29 अगस्‍त , 15 अक्‍तूबर , 24 दिसम्‍बर ,
1958 में 28 मार्च , 16 मई , 25 जुलाई , 10 सितम्‍बर , 18 नवम्‍बर , 31 दिसम्‍बर ,
1959 में 9 मार्च , 28 अप्रैल , 6 जुलाई , 28 अगस्‍त , 3 नवम्‍बर , 16 दिसम्‍बर ,
1960 में 23 फरवरी , 8 अप्रैल , 18 जून , 8 अगसत , 13 अक्‍तूबर , 26 नवम्‍बर,
1961 में 6 फरवरी , 22 मार्च , 31 मई , 20 जुलाई , 25 सितम्‍बर , 11 नवम्‍बर ,
1962 में 19 जनवरी , 12 मई , 2 जुलाई , 7 सितम्‍बर , 26 अक्‍तूबर ,
1963 में 2 जनवरी , 18 फरवरी , 25 अप्रैल , 15 जून , 21 अगस्‍त , 7 अक्‍तूबर , 18 दिसम्‍बर,
1964 में 27 जनवरी , 6 अप्रैल , 26 मई , 5 अगस्‍त , 18 सितम्‍बर , 27 नवम्‍बर,
1965 में 16 जुलाई , 3 सितम्‍बर , 11 नवम्‍बर , 25 दिसम्‍बर ,
1966 में 1 मार्च 20 अप्रैल , 30 जून , 18 अगस्‍त , 23 अक्‍तूबर , 6 दिसम्‍बर,
1967 में 16 फरवरी , 3 अप्रैल , 12 जून , 31 जुलाई , 7 अक्‍तूबर , 20 नवम्‍बर,
1968 में 30 जनवरी , 12 मार्च , 21 मई , 14 जुलाई , 17 सितम्‍बर , 4 नवम्‍बर ,
1969 में 11 जनवरी , 25 फरवरी , 24 जून , 31 अगस्‍त , 17 अक्‍तूबर ,
1970 में 8 फरवरी , 17 अप्रैल , 5 जून , 15 अगस्‍त , 25 सितम्‍बर , 11 दिसम्‍बर,
1971 में 19 जनवरी , 31 मार्च , 18 मई , 26 जुलाई 13 सितम्‍बर , 23 नवम्‍बर ,
1972 में 5 जनवरी , 13 मार्च , 30 अप्रैल , 9 जुलाई , 29 अगस्‍त , 4 नवम्‍बर , 16 दिसम्‍बर ,
1973 में 24 फरवरी , 10 अप्रैल , 21 जून , 11 अगस्‍त , 14 अक्‍तूबर , 29 नवम्‍बर ,
1974 में 6 फरवरी , 24 मार्च , 2 जून , 26 जुलाई , 29 सितम्‍बर , 12 नवम्‍बर ,
1975 में 22 जनवरी , 7 मार्च , 16 मई , 6 जुलाई , 11 सितम्‍बर , 25 अक्‍तूबर ,
1976 में 3 जनवरी , 19 फरवरी , 26 अप्रैल , 17 जून , 23 अगस्‍त , 9 अक्‍तूबर,
1977 में 1 फरवरी , 8 अप्रैल , 30 मई , 5 अगस्‍त , 24 सितम्‍बर , 3 दिसम्‍बर
1978 में 23 मार्च , 11 मई , 20 जुलाई , 6 सितम्‍बर , 13 नवम्‍बर , 24 दिसम्‍बर ,
1979 में 5 मार्च , 23 अप्रैल , 1 जुलाई , 21 अगस्‍त , 29 अक्‍तूबर , 8 दिसम्‍बर ,
1980 में 16 फरवरी , 2 अप्रैल , 13 जून , 3 अगस्‍त , 8 अक्‍तूबर , 23 नवम्‍बर
1981 में 1 फरवरी , 16 मार्च , 25 मई , 15 जुलाई , 22 सितम्‍बर , 5 नवम्‍बर ,
1982 में 15 जनवरी , 26 फरवरी , 7 मई , 26 जून , 4 सितम्‍बर , 19 अक्‍तूबर,
1983 में 1 जनवरी , 12 फरवरी , 20 अप्रैल , 10 जून , 18 अगस्‍त , 5 अक्‍तूबर , 13 दिसम्‍बर,
1984 में 23 जनवरी , 30 मार्च , 23 मई , 30 जुलाई , 15 सितम्‍बर , 25 नवम्‍बर,
1985 में 4 जनवरी , 15 मार्च , 3 मई , 11 जुलाई , 29 अगस्‍त , 6 नवम्‍बर , 18 दिसम्‍बर,
1986 में 28 फरवरी , 15 अप्रैल , 22 जून , 15 अगस्‍त , 22 अकतूबर , 2 दिसम्‍बर,
1987 में 10 फरवरी , 28 मार्च , 6 जून , 26 जुलाई , 2 अक्‍तूबर , 13 नवम्‍बर,
1988 में 25 जनवरी , 6 मार्च , 17 मई , 7 जुलाई , 14 सितम्‍बर , 30 अक्‍तूबर,
1989 में 7 जनवरी , 18 फरवरी , 30 अप्रैल , 19 जून , 28 अगस्‍त , 13 अक्‍तूबर , 23 दिसम्‍बर,
1990 में 2 फरवरी , 12 अप्रैल , 2 जून , 10 अगस्‍त , 25 सितम्‍बर , 5 दिसम्‍बर , 15 जनवरी ,
1991 में 26 मार्च , 14 मई , 23 जुलाई , 11 सितम्‍बर , 18 नवम्‍बर , 28 दिसम्‍बर,
1992 में 8 मार्च , 24 अप्रैल , 3 जुलाई , 22 अगस्‍त , 29 अक्‍तूबर , 13 दिसम्‍बर,
1993 में 13 फरवरी , 7 अप्रैल , 16 जून , 6 अगस्‍त , 12 अक्‍तूबर, 24 नवम्‍बर,
1994 में 1 फरवरी , 18 मार्च , 28 मई , 22 जुलाई , 25 सितम्‍बर , 8 नवम्‍बर,


उपरोक्‍त लोगों में से जहां 1984 से पहले जन्‍म लेनेवालों में अब ऐसा स्‍वभाव बहुत कम (क्‍योंकि ये 24 वर्ष की उम्र व्‍यतीत कर चुके) और 1990 के पहले जन्‍म लेनेवालों में धीरे धीरे कम हो रहा होगा (क्‍योंकि ये 18 वर्ष की उम्र व्‍यतीत कर चुके) , वहीं 1990 में जन्‍म लेनेवाले सभी‍ किशोरों में अभी ये स्‍वभाव अपनी चरम सीमा पर दिखाई देगा(क्‍योंकि ये 18 वर्ष की उम्र के हैं)। 1991 से लेकर 1994 तक वालों में उपरोक्‍त स्‍वभाव धीरे धीरे बढता हुआ दिखाई पडेगा (क्‍योंकि ये 18 वर्ष से कम उम्र के हैं)।


पाठको से निवेदन है कि वे इस लेख को मात्र एक आलेख के रूप में न लेकर गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष के द्वारा किए जानेवाले सर्वे के रूप में लेंगे और अपने अपने मित्रों और परिवार के अन्‍य सदस्‍यों की जन्‍मतिथि को देखते हुए हमारे परिणामों के साथ मिलाकर हमें सूचना अवश्‍य देंगे। इसके लिए ‘गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिषीय अनुसंधान केन्‍द्र’ उनका आभारी रहेगा।
एक टिप्पणी भेजें