रविवार, 3 जनवरी 2010

ठंड भरे इस मौसम से 5 जनवरी के बाद ही थोडी राहत मिल पाएगी !!

देश के विभिन्‍न भागों में कुहरे और ठंडी हवा से सर्दी बढती जा रही है, तापमान गिर कर 2 डिग्री तक पहुंच गया है। हालांकि पिछले चार दिनों से शीत लहर का प्रकोप बढ़ गया,जिसके कारण दिन रात के न्यूनतम तापमान में 2 से 3 डिग्री सेल्सियस गिरावट दर्ज हुई है] लेकिन कल से ही मौसम का और भयावह रूप सामने आया है।  मौसम विज्ञान विभाग ने कहा कि आज इस मौसम का अब तक का सबसे घना कोहरा रहा। दृश्यता कम होकर 50 मीटर रह गई। कोहरे के कारण इंदिरा गाँधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर 90 से अधिक उड़ानें प्रभावित हुईं। सत्तर घरेलू उड़ानों में विलंब हुआ, छह रद्द कर दी गईं और 17 अंतरराष्ट्रीय उड़ानें अन्य शहरों में परिवर्तित कर दी गईं। मौसम विज्ञान कार्यालय के मुताबिक रविवार को मध्यम ऊंचाई की पहाड़ियों में वर्षा होने और ऊंचे पहाड़ी इलाकों में वर्षा या हिमपात होने का अनुमान है।

समय समय पर भारतवर्ष के मौसम के बारे में हम अनुमान लगाते आ रहे हैं , इसी क्रम में यह माइक्रो पोस्‍ट प्रेषित कर रही हूं ! 'गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष' के अनुसार मौसम के मामलों में 5 जनवरी तक ग्रहों की स्थिति और बिगड रही है , इसलिए आनेवाले तीन दिनों तक कठिनाई और बढ सकती है। 6 जनवरी से ही थोडी राहत मिलनी शुरू हो जाएगी , जबकि 16 जनवरी के बाद ठंड से काफी राहत मिलेगी।


एक टिप्पणी भेजें