रविवार, 2 मई 2010

अब गर्मी से राहत की उम्‍मीद है !!

एक महीने पूर्व मौसम के बारे में लिखे गए मेरे आलेख के अनुसार भले ही 6 और 7 अप्रैल को बारिश के नहीं होने से वो सप्‍ताह मौसम के हिसाब से ठंडा नहीं हो सका था , पर उस आलेख में मैने लिखा था कि 29 अप्रैल तक गर्मी अपनी चरम सीमा पर होगी , पर उसके बाद क्रमश: सुधार आएगा। ग्रहों के प्रतिकूल होने से आराम प्रदान करने के लिए 29 अप्रैल तक बारिश न होने की संभावना भी मैने जतायी थी , जैसा देखने को अवश्‍य मिला , एक दो जगहों पर थोडी बहुत बारिश गर्मी को घटाने में नाकामयाब ही रही।




वैसे तो बारिश का बडा योग अब 18 मई के आसपास ही आएगा , पर 29 अप्रैल तक सचमुच बहुत खराब रहे मौसम को सुधारने के क्रम में चतुर्दिक बादल के बनने से तथा यत्र तत्र बारिश के छींटे पडने से दो तीन दिनों में काफी राहत आयी है , ग्रहों के मौसम पर पडने वाले प्रभाव की पुष्टि तो हो जाती है। सारे अखबार इस बात की गवाही दे रहे हैं कि दो तीन दिनो के अंदर तापमान में अच्‍छी खासी गिरावट आयी है। मुझे नहीं लगता कि आनेवाले मई और जून भी मार्च और अप्रैल की तरह गरम रहेगी , क्‍यूंकि बाद की तिथियों में समय समय पर बारिश के योग दिखते हैं। वैसे इस बात की चर्चा मैने उस आलेख में कर ही चुकी हूं , अब गर्मी के अधिक बढने की उम्‍मीद नहीं । 
एक टिप्पणी भेजें