गुरुवार, 10 मई 2012

'गत्यात्मक ज्योतिष' आपको कैसा लगा ??  

'निंदक नियरे राखिए आंगन कुटी छवाय , बिन पानी साबुन बिना निर्मल करे सुभाय' इस बात को कितना भी रट क्‍यूं न लिया जाए , पर व्‍यावहारिक जगत में मानव मन को प्रशंसा ही अच्‍छी लगती है। प्रकृति की ओर से किसी व्‍यक्ति के विकास के लिए यत्र तत्र ठोकरें जरूर मिल जाती हैं , पर विकास के लिए अपने तो प्रशंसा ही करते हैं , प्रोत्‍साहन ही देते हैं। किसी काम की सकारात्‍मक समीक्षा तो कुछ हद तक स्‍वीकार की जा सकती है , पर निन्दा करने, या टीकाटिप्पणी करने से लोगों का आत्‍मविश्‍वास काफी कम होता है। वैसे अपने किसी काम को अच्‍छे ढंग से कर लेने के पश्‍चात भी खुद पर विश्‍वास नहीं हो पाता , उस काम के लिए मेडल , उपहार , सर्टिफिकेट्स या प्रशस्ति-पत्र जैसी उपलब्धियां लोगों के आत्‍म विश्‍वास को बढाने में सहायक होती हैं। इसलिए अच्‍छे लोगों या संस्‍थाओं द्वारा द्वारा समय समय पर काम करनेवालों के लिए ऐसी व्‍यवस्‍था की जाती हैं।
 किसी के द्वारा की गयी प्रशंसा सामनेवालों को अच्छे काम के लिए प्रेरित करती है, जिससे सफलता हाथ आती है।  इसलिए कहा जाता है कि जिस तरह दूसरों को अपना समय और धन देकर उनका कुछ भला हम कर सकते हैं , उससे अधिक भलाई हम किसी को प्रोत्साहन या प्रशंसा देकर सकते हैं। प्रशंसा करने वाले के प्रति इसलिए कृतज्ञ होते हैं , क्योंकि हमारे सद्गुणों की चर्चा करके उसने हमारे विकास को मदद पहुंचाई होती है। पर यह बात भी सही है कि किसी के विषय को हम जितने अच्छे से समझ पाएंगे , उतनी ही अच्छी समालोचना कर सकेंगे, इसलिए समालोचना से पूर्व किसी को अच्छे से समझना भी आवश्यक होता है। 


वैसे तो प्रकृति में कोई भी चीज सम्पूर्ण नहीं होती  , जहाँ हर चीज में कुछ न कुछ खासियत मिलेगी, वही कुछ खामियां भी , पर हम आजतक उसकी खासियत का उपयोग करके लाभान्वित होते आये हैं , खामियों पर नजर बनाये रखने से हम इतना आगे नहीं बढ़ पाते। 'गत्यात्मक ज्योतिष' के द्वारा १९७५ से नियमित ज्योतिष का अध्ययन , शून्य  से शुरू हुई हमारी यात्रा में अनेको बाधाएँ आयी , पर सबको दूर करते हुए नित्य नए खोजों के साथ आगे बढे हैं हम।  कुछ कमी तो मिलेगी हमारी पद्धति में भी , पर उन कमियों को निरंतर दूर किये जाने का प्रयास होता रहा है और इसकी उन्नत फसल भविष्यवाणियों के रूप में आपतक पहुँचाते आएंगे। इस एप्प को देखने , पढ़ने , समझने के बाद आप जो भी महसूस करते हैं , 'गत्यात्मक ज्योतिष' के बारे में पहले से भी आपके जो विचार है , कृपया लॉगिन करके यहाँ अभिव्यक्ति के शब्द दें। 








एक टिप्पणी भेजें